अब विद्यांजलि से बदलेगी परिषदीय विद्यालयों की सूरत

शामली। बेसिक शिक्षा विभाग से संचालित परिषदीय विद्यालयों को सुदृढ़ करने के उद्देश्य को लेकर केंद्र सरकार ने विद्यांजलि-2 कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के तहत सामुदायिक व निजी क्षेत्र की भागीदारी के माध्यम से विद्यालयों की सूरत बदलने की तैयारी की गई है।


परिषदीय विद्यालयों में संसाधन और शैक्षिक स्तर सुधार के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। अब केंद्र सरकार ने इन विद्यालयों को सुदृढ़ कराने करने और संसाधन जुटाने के लिए विद्यांजलि-2 कार्यक्रम शुरू किया है। विद्यांजलि-2 के तहत विद्यालयों को प्रवासी भारतीयों, स्वयं सेवकों, विद्यालय के पूर्व छात्रों सेवारत और सेवानिवृत्त शिक्षकों, सरकारी अधिकारियों व अन्य लोगों को जोड़ा जाएगा।

विद्यांजलि-2 कार्यक्रम के लिए दो कार्य क्षेत्र रहेंगे। एक क्षेत्र में विद्यालयों की सेवा व गतिविधियों में भाग ले सकेंगेे, जबकि दूसरे क्षेत्र में संपत्ति सामग्री, उपकरण आदि के माध्यम से स्वयं सेवक विद्यालयों को सुदृढ़ करने का कार्य कर सकते हैं। विद्यालयों से जुड़ने वाले स्वयं सेवक विद्यांजलि-2 की वेबसाइट पर पंजीकरण कराया जाएगा।
बेसिक शिक्षा विभाग के सामुदायिक सहभागिता के जिला समन्वयक अमित कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम को क्रियान्वित कराने के लिए सरकार के दिशा निर्देशों से जिले के परिषदीय विद्यालयों को अवगत करा दिया गया है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇