राजकीय महाविद्यालयों में शिक्षकों की जल्द होगी भर्ती, जानें कितने पद हैं रिक्त

प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शीघ्र शुरू की जाएगी। उच्च शिक्षा निदेशालय ने शासन को रिक्त पदों का ब्योरा भेज दिया है। जल्द ही शासन की ओर से उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) को पदों का अधियाचन भेज दिया जाएगा और इसके बाद आयोग विज्ञापन जारी कर भर्ती की प्रक्रिया शुरू करेगा।





उच्च शिक्षा निदेशालय ने कई महीनों पहले ही राजकीय महाविद्यालयों से रिक्त पदों का ब्योरा मांगा था। निदेशालय ने पहली बार रिक्त पदों की जानकारी ऑनलाइन मांगी थी। इस व्यवस्था के लागू होने से भर्ती के बाद रिक्त पदों को लेकर किसी भी तरह के विवाद की गुंजाइश भी नहीं रह जाएगी। निदेशालय को राजकीय महाविद्यालयों से असिस्टेंट प्रोफेसर के 368 रिक्त पदों के बारे में सूचना मिली थी। कुछ दिनों पहले ही मुख्यमंत्री ने कहा था कि सभी रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया 100 दिनों के भीतर पूरी कर ली जाएगी।
निदेशालय ने शासन को 368 रिक्त पदों का भेजा ब्यौरा

उच्च शिक्षा निदेशालय ने 368 रिक्त पदों ब्योरा भेज दिया है। शासन की ओर से जल्द ही इन पदों का अधियाचन आयोग को प्रेषित कर दिया जाएगा। वहीं, अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में भी असिस्टेंट प्रोफेसर के रिक्त पदों की संख्या फाइनल होने वाली है।


एक-दो दिनों में इस पर अंतिम मुहर भी लग जाएगी। निदेशालय से अशासकीय महाविद्यालयों में भी रिक्त पदों की सूचना ऑनलाइन मांगी थी, लेकिन तकनीकी गड़बड़ी के कारण बाद में कई महाविद्यालयों से ऑफलाइन सूचना मंगाई गई। पदों की संख्या फाइनल होते ही भर्ती की प्रक्रिया शुरू करने के लिए निदेशालय की ओर से पदों का अधियाचन सीधे उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग को भेज दिया जाएगा।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇