शिक्षक संघ ने की मांग, 16 जून की जगह 1 जुलाई से खोले जाएं विद्यालय

झांसी। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल ने बेसिक शिक्षा मंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपा। जिसमें भीषण गर्मी के चलते परिषदीय विद्यालयों को 16 जून के बजाय 1 जुलाई से ही खोले जाने की माँग की गई है।





ज्ञापन में वर्तमान में पड़ रही भीषण गर्मी एवं लू के दृष्टिगत ग्रामीण छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले कुप्रभाव की संभावना के मद्देनजर छात्र-जन हित में विद्यालयों को जुलाई में ही खोले जाने का अनुरोध किया गया। साथ ही अवगत कराया गया कि शिक्षामित्रों, अनुदेशकों को माह जून का मानदेय नहीं दिया जाता है, साथ ही उनका नवीनीकरण भी 1 जुलाई से मान्य होता है ऐसे में उनके जून में कार्य करने पर संशय है। प्रधानमंत्री पोषण योजना के अंतर्गत बनने वाले मध्यान्ह भोजन में भी रसोइयों को सिर्फ 10 माह का मानदेय ही दिया जाते है, ऐसे में माह जून में मध्यान्ह भोजन बनवाना सम्भव नहीं होगा।समस्त निजी विद्यालय भी गर्मी के मद्देनजर 16 जून से विद्यालय ना खोले जाने की व्यवस्था कर चुके है।ऐसे में बिना संसाधन ग्रामीण बच्चों को भीषण गर्मी में विद्यालय बुलाने से उनके स्वास्थ्य. संबंधी अप्रिय स्थिति का सामना करना पड़ेगा अतःपरिषदीय विद्यालयों को 1 जुलाई से खोले जाने का आदेश शीघ्र निर्गत करें | इस दौरान संगठन प्रतिनिधिमंडल में संजीव तिवारी जिलाध्यक्ष, संजीव रावत वरिष्ठ उपाध्यक्ष, हेमंत खरे कोषाध्यक्ष, अभिषेक खरे मीडिया प्रभारी, मृत्युंजय चतुर्वेदी संघर्ष समिति जिलाध्यक्ष, सुदामा प्रसाद उपाध्यक्ष, सुभाष त्रिपाठी प्रचार मंत्री, राजेन्द्र निरंजन ब्लॉक उपाध्यक्ष उपस्थित रहे।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇