परिषदीय स्कूलों के लिए ब्लूटूथ स्पीकर खरीदने हेतु smc खाते में भेजा रुपया, लेकिन फिर भी भूले प्रधानाध्यापक

परिषदीय स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई व अन्य गतिविधियों के लिए दो-दो ब्लूटूथ स्पीकर खरीदने के लिए 38 जिलों को बजट जारी किया गया था। इनमें छह जिलों ने ही शत प्रतिशत स्पीकर खरीदे। बाकी 32 जिलों में खरीद पूरी नहीं हो पाई है। इनमें में भी चार जिले ऐसे हैं, जिनमें एक भी स्पीकर नहीं खरीदा गया। हाल में मांगी गई जानकारी में यह सामने आया है। ऐसे में अब शासन ने सभी जिलों को जल्द खरीद प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं।




महानिदेशक स्कूल शिक्षा व राज्य परियोजना निदेशक की ओर से जारी सूची के अनुसार जिन जिलों में एक भी स्पीकर नहीं खरीदा गया है, उनमें लखनऊ के अलावा भदोही, गोरखपुर व मऊ का नाम शामिल है। इसी तरह 20 प्रतिशत से कम खरीद करने वाले जिलों में औरैया, बलरामपुर, बदायूं, गोंडा, हमीरपुर, हाथरस व कन्नौज और 50 फीसदी से कम खरीद करने वालों में अयोध्या, बिजनौर, देवरिया, फतेहपुर, गाजीपुर, कुशीनगर, रायबरेली व सिद्धार्थनगर जिलों का नाम है। पूरी खरीद करने वाले जिले कानपुर नगर, अमरोहा, बस्ती, चंदौली, झांसी व मैनपुरी हैं। इसके अलावा अलीगढ़, बलिया, बरेली, चित्रकूट, फिरोजाबाद, हापुड़, जालौन, कासगंज, कौशांबी, महोबा, पीलीभीत, सहारनपुर व श्रावस्ती जिलों को भी बाकी विद्यालयों में खरीद करनी है।


राज्य परियोजना की ओर से सभी 38 जिलों के कुल 53754 प्राथमिक विद्यालयों में ब्लूटुथ स्पीकर खरीद के लिए बजट जारी किया गया है। इनमें अभी 26147 विद्यालयों में ही खरीद हुई है। करीब 50 फीसदी विद्यालयों के लिए स्पीकर की खरीद की जानी है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇