परिषदीय विद्यालयों में लगेगा रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम

बारिश के पानी का संरक्षण अब शहरों के बड़े भवनों तक ही सीमित नहीं रहेगा। गांवों के प्राथमिक विद्यालयों में भी अब वर्ष जल संरक्षण सिस्टम लगाने की तैयारी है। यह पहल आईसीआईसीआई फाउंडेशन ने की है। इसके लिए पांच जिले बांदा, चित्रकूट, बाराबंकी, सीतापुर और वाराणसी को चिह्नित भी कर लिया गया है। इन जिलों में 100 प्राथमिक विद्यालयों में वर्षा जल संरक्षण सिस्टम लगाया जाना है।


चयनित जिलों में ये सिस्टम उन्हीं विद्यालयों में लगाया जाएगा जो डार्क एरिया में होंगे। देश का आईसीआईसीआई समूह सामाजिक दायित्व निर्वहन के लिए आईसीआईसीआई फाउंडेशन के जरिये योगदान दे रहा है। फाउंडेशन अपने सीएसआर फंड के तहत पांच जिलों के 20-20 प्राथमिक विद्यालयों के माध्यम से ग्राउंड वाटर रिचार्ज करने का काम करेगा। इसको लेकर निदेशक बेसिक शिक्षा डॉ. सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे ग्राउंड वाटर के हिसाब से उन ब्लॉकों के विद्यालयों को चयनित करें जो डार्क एरिया में आते हों। चयन किए जाने वाले विद्यालय में पर्र्याप्त स्थान होना चाहिए।

स्कूलों में बागवानी का भी होगा विकास
आईसीआईसीआई फाउंडेशन चयनित जिलों के विद्यालयों में वर्षा जल का संरक्षण करने के साथ ही बागवानी का भी विकास कराएगा। इससे पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि स्कूलों में वर्षा जल संरक्षण सिस्टम लगाए जाने के निर्देश जारी हुए हैं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇