मोबाइल में व्यस्त गुरूजी तो कहीं कक्षा में सोता दिखा बच्चा

बाराबंकी : अनेक प्रयासों के बावजूद परिषदीय विद्यालयों में व्यवस्थाएं पटरी पर नहीं आ पा रही हैं। पढ़ाई तो दूर नामांकन बढ़ाने की प्रक्रिया और अन्य व्यवस्थाएं ही बेपटरी हैं। विद्यालय खुलने के दूसरे दिन जागरण ने पड़ताल की। इस दौरान विद्यालय में ताला लगा मिला तो कहीं छात्रों की संख्या न के बराबर थी। शिक्षक जहां आए भी थे वहां वह मोबाइल व अन्य काम में व्यस्त दिखे। एक स्कूल में तो बच्चा सीट का सहारा लेकर सोते दिखा। इस संबंध में बीएसए डा. अमित कुमार का पक्ष जानने की कोशिश की गई। उन्होंने स्वयं को वीडियो कांफ्रेंसिग में व्यस्त बताया। प्रस्तुत है रिपोर्ट..



ताला बंद, शिक्षक गायब, नहीं बना एमडीएम
दरियाबाद : प्राथमिक विद्यालय मियागंज के गेट पर सुबह 11:17 मिनट पर ताला बंद था। पूर्व माध्यमिक विद्यालय के गेट से भी पहुंचने का रास्ता है। पहुंचने पर कक्ष के ताले तो खुले थे, लेकिन शिक्षक और नहीं दिखे। एक कक्ष में युवक बेंच पर लेटा था। शिक्षक सत्य प्रकाश परिसर में मोबाइल चलाने में व्यस्त दिखे। पूर्व माध्यमिक विद्यालय में छात्र एक कक्ष में बैठे दिखे। कक्ष में गंदगी दिखी। बरामदे में कुछ छात्र खेल रहे थे। पूर्व माध्यमिक विद्यालय मियागंज की प्रधानाध्यापिका निधि ने बताया कि अनुदेशक आशा काफी दिन से नहीं आ रही है। प्राथमिक के शिक्षक उपस्थित हैं। दोपहर 12 बजकर दो मिनट पर प्राथमिक विद्यालय मंझार की इंचार्ज आरती ने बताया कि शिक्षक रोहित त्रिपाठी बीआरसी किताब लेने गए हैं। शिक्षामित्र मंजू अभी काम से गई हैं। आरती व शिक्षामित्र आनंद प्रकाश के 15 बच्चों को पढ़ाने की जानकारी दी गई। शौचालय के पास झाड़ी और हैंडपंप के पास घास उगी रही। उपस्थिति कम होने के कारण एमडीएम न बनवाने का तर्क विद्यालयों ने दिए। वहीं रामनगर के निजामुद्दीनपुर प्राथमिक विद्यालय में कक्ष में शिक्षक सुरेश कुमार बैठे थे और एक छात्र बेंच का सहारा लेकर सोता मिला।

उपस्थिति बढ़ाने में शिक्षक फेल

रामसनेहीघाट : बनीकोडर शिक्षा क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय रामसनेहीघाट में 16 बच्चे मौजूद मिले। विद्यालय में एमडीएम के लिए तहरी बनी थी। प्राथमिक विद्यालय भुडेहरी में 170 में से 10 बच्चे थे।

फतेहपुर : कंपोजिट विद्यालय फतेहपुर में कुल पंजीकृत विद्यार्थियों की संख्या 776 है, जिसमें से शुक्रवार को महज 57 विद्यार्थी ही उपस्थित मिले। यहां अनुदेशक तथा शिक्षामित्र सहित कुल 17 शिक्षक मौजूद मिले।

त्रिवेदीगंज : प्राथमिक विद्यालय रामीपुर में मात्र 17 बच्चे ही मौजूद थे, जबकि शिक्षा मित्र सहित सहायक अध्यापक मौजूद रहे। भीषण गर्मी में बिजली की आवाजाही से बच्चे परेशान दिखे। सूरतगंज : मोहम्मदपुर खाला के प्राथमिक विद्यालय प्रथम में शुक्रवार को करीब बीस बच्चे आए थे। यहां सभी शिक्षक थे। बरेठी : शिक्षा सत्र के दूसरे दिन प्राथमिक विद्यालय बरेठी में मात्र पांच और पूर्व माध्यमिक विद्यालय बरेठी में 27 विद्यार्थी उपस्थित रहे।

स्कूलों की व्यवस्थाएं ठीक कराने के लिए बीएसए को निर्देशित किया गया है। शिक्षकों को पढ़ाना चाहिए और बच्चों को स्कूल आने के लिए प्रेरित करना चाहिए। इस संबंध में बीएसए से रिपोर्ट मांगी जाएगी।

- एकता सिंह, सीडीओ, बाराबंकी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇