बीएससी-बीसीए के छात्र कर सकेंगे बीटेक


प्रयागराज। नई शिक्षा नीति को नया आयाम देते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय इंटीग्रेटेड एईपी आधारित इंजीनियरिंग की डिग्री देगा। विश्वविद्यालय ने बीटेक-एमटेक इन कम्प्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग मेजर इन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस नाम से छह वर्षीय नया पाठ्यक्रम तैयार किया है। इस पाठ्यक्रम में प्रवेश जेईई-मेन के जरिए होगा।
बीएससी गणित और बीसीए पास छात्र सीधे द्वितीय वर्ष में प्रवेश ले सकेंगे। पहले साल 30 सीटों के सापेक्ष प्रवेश लिया जाएगा। यह पाठ्यक्रम जेके इंस्टीट्यूट के अंतर्गत संचालित होगा। द्वितीय वर्ष में बीएससी गणित और बीसीए के छात्रों का प्रवेश होगा। इसके लिए विश्वविद्यालय स्वयं प्रवेश परीक्षा आयोजित करेगा। पांचवें वर्ष में 50 प्लस 10 सीटों पर प्रवेश होगा। बढ़ी दस सीटों के लिए गेट के जरिए एमटेक में प्रवेश होगा। इस कोर्स का संचालन शैक्षिक सत्र 2023-24 से शुरू किए जाने के लिए एकेडमिक काउंसिल ने मुहर लगा दी है। नए पाठ्यक्रम को जेईई में शामिल किए जाने के लिए जल्द भेजा जाएगा।

बीएससी-बीसीए के छात्र कर सकेंगे बीटेकबीटेक-एमटेक इंटीग्रेटेड कोर्स के साथ विश्वविद्यालय में छात्रों को आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के अध्ययन के उभरते हुए क्षेत्र में पढ़ने का मौका मिलेगा और नई शिक्षा नीति के अंतर्गत विश्वविद्यालय में नए विषयों के अध्ययन से उत्कृष्ट शिक्षा के नए दौर की शुरुआत होगी। डॉ. जया कपूर, पीआरओ, इविवि

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇