जिस तरह शिक्षक भर्ती घोटाला हुआ वह कल्पना से परे: सीबीआइ


कोलकाता : प्राथमिक शिक्षक भर्ती घोटाले की सीबीआइ रिपोर्ट देखकर कलकत्ता हाई कोर्ट के न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय हैरत में पड़ गए। दरअसल, सीबीआइ ने न्यायाधीश गंगोपाध्याय की एकल पीठ में जमा की गई अपनी रिपोर्ट में कहा है कि प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती को लेकर जिस तरह से घोटाला हुआ है, वह कल्पना से परे है। आम लोग इसके बारे में जानेंगे तो अवाक रह जाएंगे।


सूत्रों के मुताबिक सीबीआइ की रिपोर्ट में कहा गया है कि प्राथमिक शिक्षक के तौर पर जिन लोगों की भर्ती की गई है, उनमें से अधिकांश टेट (शिक्षक पात्रता परीक्षा) में शामिल ही नहीं हुए। सीबीआइ ने अदालत को सूचित किया है कि जांच सही दिशा में और सही गति से आगे बढ़ रही है।

वह जांच के एकदम अंतिम चरण में पहुंच गई है। शिक्षकों की भर्ती में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। गौरतलब है कि शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़ी एक याचिका पर बुधवार को सुनवाई करते हुए न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय ने स्कूल सेवा आयोग को 28 सितंबर तक ग्रुप 'सी' और 'डी' में 923 योग्य उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र देने का निर्देश दिया था। न्यायाधीश गंगोपाध्याय ने कहा था कि नियुक्ति पत्र काउंसिलिंग के दिन सौंप दिया जाना चाहिए और भर्ती प्रक्रिया 28 सितंबर से शुरु हो जानी चाहिए।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇