पहली बार कक्षा 1 से लेकर 8 तक के स्कूल सिस्टम को अपग्रेड करेगी आकलन प्रक्रिया की होगी समीक्षा


गोरखपुर बेसिक शिक्षा अभिनव प्रयोग और परिवर्तन से गुजर रही है। कुछ परिवर्तन स्थायी परिणाम देने में सहायक होगें। देश में पहली बार कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के बच्चों का अधिगम स्तर के अनुरूप सरल एप के द्वारा ओएमआर शीट का प्रयोग करते हुए आकलन किया जा रहा है।

इस आकलन की तैयारी की समीक्षा एवं आकलन प्रक्रिया साझा करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा रविवार को जनपद के सभी जिला समन्वयक, खण्ड शिक्षा अधिकारी, एसआरजी, एकेडमिक रिसोर्स पर्सन और निपुण भारत सेंटर के सदस्यों की कार्यशाला एनेक्सी भवन में आयोजित की गई। कार्यशाला में डीएम विजय किरण आनंद ने सभी को निर्देश देते हुए इस परीक्षा को शुचिता पूर्वक संपन्न कराने को कहा। कहा यह आकलन प्रक्रिया स्कूल सिस्टम को अपग्रेड करेगी।

उन्होंने कहा कि सरल एप द्वारा असिसमेंट एक अभिनव प्रयोग है। जिसमें विद्यालय के शिक्षकों के द्वारा परिषद के सभी नामांकित बच्चों के अधिगम स्तर का आकलन करेंगे। विद्यालयों को प्रश्न पत्र और ओएमआर सीट उपलब्ध करा दी गई है। प्राथमिक कक्षाओ के बच्चों के द्वारा प्रश्न के उत्तर जानकर शिक्षक स्वयं ओएमआर शीट को भरेंगे और उसी कार्य दिवस में सरल एप के द्वारा एमआर शीट को स्कैन किया जाएगा। यह परीक्षा दो स्तर आयोजित होगी। प्रथम स्तर प्राथमिक कक्षा एक से कक्षा तीन तक और द्वितीय स्तर कक्षा चार से कक्षा आठ तक क्रमश 26 और 27 अप्रैल को निर्धारित समय पर आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा का पर्यवेक्षण जनपद स्तरीय, विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी, समस्त खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा किया जायेगा। आकलन में एकेडमिक रिसोर्स पर्सन, एसआरजी सहयोगकर्ता की भूमिका निभाएंगें।


कार्यशाला में बीएसए रमेंद्र कुमार सिंह ने सभी शिक्षकों से इस परीक्षा दिवस में अधिकतम बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। कार्यशाला में सभी एआरपी, एसआरजी और बीईओ तथा जिला समन्वयक को निपुण भारत मानिटरिंग सेंटर के टीम के सदस्यों ने प्रेजेंटेशन के द्वारा इस परीक्षा से जुड़ी हुई सरल ऐप के स्टेप और आने वाली चुनौतियों तथा समाधान की जानकारी दी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇