परिषदीय विद्यालयों को गोद लेकर मॉडल बनाएंगे अधिकारी

सुल्तानपुर। परिषदीय विद्यालयों को आदर्श बनाने के लिए राजपत्रित अधिकारी एक-एक स्कूल गोद लेंगे। विद्यालय गोद लेने के बाद उनमें अवस्थापना सुविधाओं का विकास कराने के साथ ही शैक्षिक स्तर में भी गुणात्मक सुधार किया जाएगा।


प्रदेश सरकार ने समूह क व समूह ख के समस्त राजपत्रित अधिकारियों को एक-एक परिषदीय विद्यालय गोद लेने का निर्देश दिया है। उत्तर प्रदेश शासन प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने जिलाधिकारी को पत्र जारी कर कहा है कि गोद लिए जाने वाले परिषदीय विद्यालयों की समस्त अवस्थापना सुविधाएं सुधारी जाएंगी। साथ ही समय-समय पर विद्यालयों का पर्यवेक्षण कर उनकी कमियों को दूर किया जाएगा। शासकीय/व्यक्तिगत प्रयास के माध्यम से इन विद्यालयों को एक मॉडल विद्यालय के रूप में विकसित किया जाएगा।

स्कूल चलो अभियान के शुभारंभ के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सभी जिलाधिकारियों को अपने जिले के सांसद, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष, क्षेत्र पंचायत सदस्य व प्रधान से विद्यालय गोद लिए जाने का अनुरोध करने का निर्देश दिया था। शासन ने जनप्रतिनिधियों, जनपद, तहसील व ब्लॉक स्तर पर कार्यरत समस्त अधिकारियों की ओर से गोद लिए जाने वाले विद्यालयों की सूचना संकलित करते हुए भेजने का निर्देश दिया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दीवान सिंह यादव ने बताया कि जिलाधिकारी के साथ बैठक कर अधिकारियों से विद्यालय गोद लिए जाने का आग्रह किया जाएगा। संबंधित विद्यालयों को मॉडल विद्यालय के रूप में स्थापित किया जाएगा।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇