सरकारी नौकरी : माध्यमिक और उच्च शिक्षा में शिक्षकों के 13 हजार पद खाली, अभी और बढ़ेगी पदों की संख्या

उच्च और माध्यमिक शिक्षा में शिक्षकों के तकरीबन 13 हजार पद खाली हैं और संबंधित भर्ती संस्थाओं को इन पदों का अधियाचन भी मिल चुका है, लेकिन किसी भी भर्ती के लिए अब तक विज्ञापन जारी नहीं किया गया है। प्रतियोगियों को विज्ञापन का इंतजार है। उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मांग की है कि सभी रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया 100 दिनों में पूरी की जाए।





उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (पीजीटी) और प्रवक्ता (टीजीटी) के तकरीबन 5350 पदों पर भर्ती के लिए अधियाचन पिछले साल ही मिल गया था। इनमें से सात सौ पद समायोजन में कम हो गए और अब साढ़े चार हजार पद बाकी रह गए हैं। इन पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी होने का इंतजार किया जा रहा है। वहीं, चयन बोर्ड को प्रधानाचार्य के 1938 पदों का अधियाचन भी मिल चुका है, लेकिन चयन बोर्ड ने प्रधानाचार्य के पदों पर भी भर्ती के लिए अब तक विज्ञापन जारी नहीं किया है।



दूसरी ओर, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग को एलटी ग्रेड शिक्षक के तीन हजार पदों का अधियाचन मिल चुका है। प्रतियोगी छात्र एलटी ग्रेड भर्ती शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। छात्र चाहते हैं कि विज्ञापन जल्द से जल्द जारी किया जाए। वहीं, आयोग ने भर्ती के लिए अर्हता स्पष्ट करने के लिए संबंधित विभागों को पत्र भेजा है। अर्हता स्पष्ट होने के बाद आयोग नई भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करेगा। वहीं, राजकीय इंटर कॉलेजों में प्रवक्ता के 1500 पद रिक्त है, जिनका अधियाचन माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेजना है और इसके बाद आयोग भर्ती शूरू करेगा।
शासन को भेजी गई है पदों की सूचना
उच्च शिक्षा निदेशालय की ओर से प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों में प्रवक्ता पुस्तकालय के 106 पदों और असिस्टेंट प्रोफेसर के 918 रिक्त पदों का निर्धारण किया चुका है। निदेशालय उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग को इन पदों का अधियाचन भेजने जा रहा है। वहीं, निदेशालय ने राजकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 368 रिक्त पदों का निर्धारण करते हुए पदों की सूचना शासन को भेज दी है और बहुत जल्द शासन की ओर से इन पदों का अधियाचन आयोग को भेज दिया जाएगा।


प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी प्रशांत पांडेय का कहना है कि सभी भर्ती संस्थाओं को मुख्यमंत्री के बयान को ध्यान में रखते हुए 100 दिनों में रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी करनी चाहिए। इस मसले पर प्रशांत ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सभी भर्तियां शीघ्र पूरी कराए जाने की मांग की है।


अभी और बढ़ेगी पदों की संख्या 
शिक्षकों के रिक्त पदों की संख्या अभी और बढ़ेगी। हजारों पद रिक्त होने के बावजूद संबंधित भती संस्थाओं को उनका अधिचायन नहीं भेजा गया है। प्रतियोगी छात्रों ने मांग की है कि वर्ष 2018 की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में रिक्त रह गए पदों को नई भर्ती में शामिल किया जाएगा। वहीं, चयन बोर्ड फिर से पोर्टल खोलकर अधियाचन मांगे। प्रतियोगी छात्रों का दावा है कि प्रदेश में टीजीटी-पीजीटी के तकरीबन 27 हजार पद रिक्त है। अगर पोर्टल दोबारा खोलकर अधियाचन मांगा जाता है तो टीजीटी-पीजीटी के पदों की संख्या भी बढ़ेगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇