कक्षाओं से पहले मदरसों में शुरू हो गया राष्ट्रगान

लखनऊ : प्रदेश के सभी मदरसों में गुरुवार से कक्षाएं शुरू होने से पहले राष्ट्रगान का गायन शुरू हो गया। साथ ही प्रदेश सरकार अब मदरसों में आनलाइन पढ़ाई के लिए शिक्षक तैयार करने जा रही है। इसके लिए राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के दीक्षा पोर्टल की मदद ली जाएगी। मदरसा शिक्षकों को पोर्टल के जरिए आनलाइन प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।



कक्षाएं शुरू होने से पहले राष्ट्रगान का निर्णय मदरसा बोर्ड ने 24 मार्च की बैठक में लिया था। रमजान के कारण मदरसों में घोषित वार्षिक अवकाश के बाद 12 मई गुरुवार को ही मदरसे खुले हैं। ऐसे में कक्षाएं शुरू होने से पहले अन्य दुआओं के साथ ही अनिवार्य रूप से राष्ट्रगान का गायन भी शुरू कर दिया गया है। साथ ही बोर्ड अब मदरसों में आनलाइन पढ़ाई के लिए मूलभूत सुविधाएं जुटाने में लगा हुआ है। लाकडाउन के समय जब स्कूल-कालेज बंद हुए तो केंद्र सरकार ने आनलाइन पढ़ाई के लिए दीक्षा पोर्टल व मोबाइल एप शुरू किया था। आनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था न होने से सर्वाधिक नुकसान मदरसों में पढ़ने वाले छात्र-छात्रओं का हुआ था। दीक्षा पोर्टल पर कक्षा एक से लेकर परास्नातक तक की पढ़ाई आसानी से हो सकती है। यहां सभी विषयों और कक्षाओं से संबंधित कई भाषाओं में शिक्षण सामग्री उपलब्ध है। मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार एसएन पाण्डेय ने बताया कि बोर्ड बैठक में मदरसा शिक्षकों को दीक्षा पोर्टल से आनलाइन प्रशिक्षण दिलाने का निर्णय हो चुका है। अब एनसीईआरटी को प्रशिक्षण देने के लिए जल्द पत्र लिखा जाएगा। प्रदेश में 16,513 मदरसे हैं इनमें करीब 40 हजार शिक्षक पढ़ाते हैं। इन सभी शिक्षकों को मदरसा बोर्ड प्रशिक्षण दिलाएगा।

बोर्ड रजिस्ट्रार ने भेजे निर्देश

एसएन पाण्डेय ने प्रदेश के सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को राष्ट्रगान अनिवार्य रूप से शुरू करने के निर्देश भेज दिए हैं। मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष डा. इफ्तिखार अहमद जावेद ने कहा कि राष्ट्रगान से मदरसा छात्रों में भी देश-प्रेम की भावना जागृत होगी। इसके अलावा मदरसा बोर्ड के पाठ्यक्रम को प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए दीनी तालीम को कम कर आधुनिक विषयों को जोड़ा गया है।

’मदरसा बोर्ड ने गत 24 मार्च को किया था इस आशय का निर्णय

’अब आनलाइन पढ़ाई के लिए भी तैयार किए जाएंगे शिक्षक

मदरसा शिक्षा अल्पसंख्यकों के लिए अहम है। जब राष्ट्रगान गाया जाता है तो छात्र समाज के मूल्य सीखते हैं। सरकार मदरसा शिक्षा के उन्नयन के लिए कार्य कर रही है। अब मदरसा छात्र धार्मिक पुस्तकों के साथ ही गणित, विज्ञान और कंप्यूटर का भी अध्ययन कर रहे हैं।

- दानिश आजाद, अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇