बेसिक स्कूलों की दीवारें सुनाएंगी बेटियों की कामयाबी का किस्सा

वाराणसी, परिषदीय विद्यालयों की दीवारें बेटियों की कामयाबी का किस्सा सुनाएंगी। रानी लक्ष्मीबाई से लेकर सावित्री बाई फुले, कल्पना चावला, पीटी ऊषा की संघर्ष गाथा को दीवारों पर उकेरा जाएगा। मिशन शक्ति फेज दो के तहत प्रदेश सरकार ने यह पहल की है। इसके तहत सरकारी स्कूलों की एक दीवार महिला शक्ति को समर्पित की जाएगी। मिशन शक्ति के तहत कार्यक्रमों में इस नई पहल को भी शामिल किया गया। महानिदेशक स्कूली शिक्षा अनामिका सिंह ने सभी जिले के बीएसए को आदेश जारी कर दिया है।


30 जून तक विद्यालयों की एक दीवार को इस तरह बनाया जाएगा कि वह साहस, वीरता, स्वाभिमान, सेवा, त्याग आदि गुणों की शिक्षा विद्यालय में पढ़ने वाली बालिकाओं को मिल सके। दीवार पर विभिन्न क्षेत्रों में ख्याति प्राप्त महिलाओं की जीवन गाथा को प्रदर्शित करती हुई कहानियां, चित्र, स्लोगन उकेरे जाएंगे। इसे देखकर बालिकाएं सपने देखेंगी और उन्हें पूरा करने की हर संभव कोशिश करेंगी। इसके अलावा जून में ही बालिकाओं के बीच महिला शक्ति से संबंधित चित्रकला, वाद-विवाद प्रतियोगिता होगी। स्लोगन और नारे लिखी तख्तियां लेकर गांव में रैली निकाली जाएगी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि मिशन शक्ति के तहत आयोजित कार्यक्रमों से विद्यालय के साथ गांव की अन्य किशोरियां भी प्रेरित होकर भविष्य में कल्पना चावला जैसी बन सकेंगी। स्कूल खुलते ही स्कूल की दीवारों पर पेंटिंग कराई जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇