फर्जी कागजात पर स्कूल में नौकरी कर रहे चार शिक्षक

मऊ। जिले के परिषदीय विद्यालयों में तैनात कई शिक्षक फर्जी कागजातों के आधार पर नौकरी कर रहे हैं। इस बात का खुलासा एसटीएफ की जांच में हुआ है। बीएसए ने ऐसे चार शिक्षकों के मामले में जांच रिपोर्ट शासन को भेजी है। परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर एसटीएफ को शिकायतें मिली थी।

उसने जिले में फर्जी कागजात लगाकर नौकरी करने वाले चार शिक्षकों की पहचान की है। लेकिन इन शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। बेसिक शिक्षा निदेशक ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को ऐसे शिक्षकों के खिलाफ 30 जून तक केस दर्ज कराने फरमान जारी किया है। निदेशक ने पत्र में लिखा है कि एसटीएफ ने आशंका जताई है कि संबंधित अधिकारी आरोपित शिक्षकों को अतिरिक्त समय दे रहे हैं। ऐसे में साक्ष्यों को खत्म किए जाने की संभावना है। यही नहीं बेसिक शिक्षा विभाग के आदेशों की कमियों के कारण आरोपित शिक्षक उच्च न्यायालय से स्थगन आदेश प्राप्त कर नौकरी कर रहे हैं। अधिकारी स्थगन आदेश को निरस्त कराने के लिए पैरवी नहीं कर रहे हैं। अधिकारियों की मानें तो फर्जी कागजात लगाकर नौकरी कर रहे चार शिक्षकों के मामले में जांच रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. संतोष कुुमार सिंह ने बताया कि शिक्षा निदेशक का पत्र मिलने के बाद चार आरोपित शिक्षकों के मामले में जांच रिपोर्ट निदेशालय भेज दी गई है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇