विभागीय कार्यक्रमों के संचालन एवं पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही एवं शिथिलता के चलते प्रदेश के 10 BEO आए DGSE के रडार पर, दो दिवसीय जांच के लिए प्रदेश स्तर से जांच अधिकारी नामित


विभागीय कार्यक्रमों के संचालन एवं पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही एवं शिथिलता के चलते प्रदेश के 10 BEO आए DGSE के रडार पर, दो दिवसीय जांच के लिए प्रदेश स्तर से जांच अधिकारी नामित


उत्तर प्रदेश सभी के लिए शिक्षा परियोजना परिषद् के समग्र शिक्षा कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त जनपदों का 360 डिग्री मूल्यांकन एवं अनुश्रवण किया गया। उक्त अनुश्रवण में दूरभाष के माध्यम से शिक्षकों, जिला समन्वयकों, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों एवं जिलाधिकारियों से फीडबैक प्राप्त किया गया। 


कतिपय खण्ड शिक्षा अधिकारियों की कार्यशैली एवं व्यवहार के बारे में संज्ञान में आया है कि उनके द्वारा विभागीय कार्यक्रमों के संचालन एवं पदीय दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही एवं शिथिलता बरती जा रही है। उक्त के दृष्टिगत सम्बन्धित खण्ड शिक्षा अधिकारियों के विकास खण्ड में संचालित कार्यक्रमों एवं गतिविधियों की सघन जांच की आवश्यकता के क्रम में नवचयनित समूह 'ख' के निम्नलिखित अधिकारियों द्वारा दिनांक 16.08.2022 एवं 17.08.2022 को उनके नाम के सम्मुख अंकित जनपद में आवंटित खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का स्थलीय निरीक्षण करते हुए गहन जांच की जायेगी।






UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇