ट्रांसफर का झांसा देकर एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ए०आर०पी०) ने शिक्षिका से किया दुष्कर्म | पुलिस ने दर्ज किया केस आरोपी ए०आर०पी० फरार


ट्रांसफर का झांसा देकर एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ए०आर०पी०) ने शिक्षिका से किया दुष्कर्म
धोखाधड़ी
👉 ब्लैकमेल कर 3.50 लाख रुपये, गहने और जेवर भी हड़प लिए
👉 पुलिस ने दर्ज किया केस आरोपी ए०आर०पी० फरार

गोंडा के पंडरीकृपाल ब्लाक में एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ए०आर०पी०) के पद पर के कार्यरत शिक्षक ने अपनी करतूत से पूरे बेसिक शिक्षा महकमे को शर्मसार कर दिया है। ए०आर०पी० ने ट्रांसफर कराने का झांसा देकर एक शिक्षिका को अपनी हवस का शिकार बना डाला। आरोपी ने शिक्षिका का विडियो भी बनाया और उसे वायरल करने की धमकी देकर शिक्षिका को ब्लैकमेल करता रहा। आरोप है कि ट्रांसफ़र के नाम पर ए०आर०पी० ने शिक्षिका से 3.50 लाख रुपये भी ले लिए। साथ ही उसके साथ मारपीट कर उसके सोने के जेवर भी लूट लिए। पीड़िता ने बीएसए से पूरे मामले की शिकायत की तो वह पूरे मामले को दबाने में जुट गए। हारकर शिक्षिका ने आरोपी ए०आर०पी० के खिलाफ कोतवाली नगर में दुष्कर्म, लूट, मारपीट व जान से मारने की धमकी देने समेत विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार बताया जा रहा है।

कानपुर जिले की रहने वाली एक महिला गोंडा जिले के पंडरीकृपाल ब्लाक के एक प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका के पद पर कार्यरत है। इसी ब्लाक में प्रतापगढ़ जिले के नगर कोतवाली क्षेत्र के पूरे केशवराय गांव का रहने वाला शाश्वत सावरकर सिंह भी पंडरीकृपाल ब्लाक में बतौर ए०आर०पी० के पद पर कार्यरत है। पीड़ित शिक्षिका के मुताबिक ए०आर०पी० सपोर्टिव सुपरविजन के नाम पर बार-बार उसके स्कूल में आता था। कई बार फोन पर भी चर्चा करता था। पीड़िता का कहना है कि एक बार उसने ए०आर०पी० से ट्रांसफ़र के विषय में जानकारी मांगी तो उसने अपने एक रिश्तेदार के बीएसए होने और सचिवालय में अपनी बहन को समीक्षा अधिकारी होने की बात कहकर उसका ट्रांसफ़र कराने में मदद करने की बात कही। पीड़िता का आरोप है कि मार्च महीने में आरोपी ने झांसा देकर उससे 3.50 लाख रुपये ले लिए और उसे इसी सिलसिले में लखनऊ ले गया। आरोप है कि वहां कोलड्रिंक में उसे नशीला पदार्थ पिला दिया। बेहोशी की हालत में उसके साथ दुष्कर्म किया और उसका विडियो भी बना लिया। वह उसे बेहोशी की हालत में ही छोड़कर पैसे लेकर फरार हो गया। होश में आने पर वह लोकलाज के डर से अपने मायके चली गई। पीड़िता का कहना है कि आरोपी उसे ब्लैकमेल करने लगा। इस दौरान उसने कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया। उसका एटीएम कार्ड व सोने के जेवर भी लूट लिए। उसने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को पूरी घटना बताई लेकिन कार्रवाई करने के बजाय बीएसए ने मामले को दबाने की कोशिश की। पीड़िता ने नगर कोतवाली में आरोपी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की फरियाद की। नगर कोतवाल पंकज सिंह ने बताया कि पीड़ित शिक्षिका की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से ही आरोपी ए०आर०पी० फरार बताया जा रहा है। इस घटना के सामने आने के बाद आरोपी के खिलाफ कार्रवाई न होने से शिक्षक हतप्रभ है। घटना को लेकर शिक्षक संगठनों में आक्रोश है। हालांकि विभाग को बदनामी से बचाने के लिए शिक्षक संगठनों ने चुप्पी साध रखी है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇