डीएम के फरमान पर शिक्षकों के सामने परेशानी

कानपुर देहात, 

जनपद में निरीक्षण पर बुधवार को निकलीं डीएम को एक माध्यमिक कालेज में शिक्षक नहीं मिले थे। इसके बाद डीएम ने डीआइओएस को शिक्षकों को पहले अपने कालेज फिर मूल्यांकन केन्द्र पर पहुंचने का निर्देश जारी किया। डीएम के इस फरमान से शिक्षक परेशानी में पड़ गए हैं। वहीं शिक्षक संघ भी आदेश लिखित रुप से जारी होने पर विरोध की तैयारी में है।


बुधवार को निरीक्षण अभियान पर निकलीं डीएम नेहा जैन व सीडीओ अकबरपुर क्षेत्र के जनता इंटर कालेज बाढ़ापुर पहुंची थी। यहां पर उन्हें एक भी शिक्षक नहीं मिला था। इसके बाद डीएम ने जानकारी की तो पता चला शिक्षक मूल्यांकन ड्यूटी पर हैं। इसके बाद डीएम ने डीआइओएस को इस प्रक्रिया को गलत बताते हुए शिक्षकों को पहले अपने तैनाती स्थल वाले कालेज जाने व उसके बाद मूल्यांकन केन्द्र पर जाने का निर्देश दिया था। डीएम के इस फरमान की जानकारी लगते ही शिक्षक पशोपेश में हैं। शिक्षकों का कहना है कि अब तक कभी इस तरह के निर्देश जारी नहीं हुए । जनपद में कुल दो ही मूल्यांकन केन्द्र हैं। शिक्षक दूर दराज से सुबह चलकर दस बजे मूल्यांकन केन्द्र पर पहुंचते हैं, अगर नए निर्देश का पालन किया तो मूल्यांकन केन्द्र पर पहुंचने में ही दोपहर हो जाएगी। वहीं इस बाबत डीआइओएस अरविंद द्विवेदी ने बताया कि डीएम के निर्देश का सभी को पालन करना है। निरीक्षण आख्या आते ही वह उसके अनुसार निर्देश जारी करने के साथ ही उसका अनुपालन सुनिश्चित कराएंगें।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇