सवा आठ बजे तक बंद था परिषदीय स्कूल, बीएसए ने पूरे स्टाफ का रोका वेतन

Sonebhadra, बीएसए हरिवंश कुमार ने मंगलवार को सदर और करमा ब्लॉक के कई विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सवा आठ बजे तक प्राथमिक विद्यालय बगही बंद मिलने पर प्रधानाध्यापक, सहायक अध्यापक सहित पांच शिक्षकों का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। बीएसए ने मंगलवार को प्राथमिक विद्यालय बगही, महुलियां, कठपुरवा, गौरी, जोकाही, ऐलाही और कंपोजिट विद्यालय करकोली का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण में सदर ब्लॉक के बगही में संचालित प्राथमिक विद्यालय सुबह 8:12 बजे तक बंद मिला। इस पर प्रभारी प्रधानाध्यापिका रेनू राय, सहायक अध्यापिका करिश्मा कुशवाहा के घोर लापरवाही बरतने पर इनका वेतन अग्रिम आदेश तक अवरुद्ध कर दिया गया। वहीं शिक्षामित्र मीनू चौहान व संजू देवी का वर्तमान माह का मानदेय अवरुद्ध किया गया।


इसी तरह कंपोजिट विद्यालय करकोली के शिक्षामित्र सर्वेश मिश्रा के विद्यालय से बिना किसी सूचना के अनुपस्थित पाए जाने पर वर्तमान माह का मानदेय अवरुद्ध किया गया। विद्यालय निरीक्षण में प्राथमिक विद्यालय जोकाही व कंपोजिट विद्यालय करकोली में फर्श व बाउंड्रीवाल टूटी होने व कायाकल्प का कार्य न होने पर प्रधानाध्यापक एवं खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि ग्राम प्रधान/एडीओ पंचायत से समन्वय स्थापित कर विद्यालय में कायाकल्प का कार्य कराएं। अभिभावकों से संपर्क कर विद्यालयों में बच्चों का अधिक से अधिक नामांकन कराना सुनिश्चित करें।

बीईओ ने कई विद्यालयों का किया निरीक्षण
बभनी ब्लाक के खंड शिक्षा अधिकारी संजय कुमार ने मंगलवार को बभनी ब्लाक क्षेत्र के कई विद्यालयों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय में तैनात शिक्षकों के कार्यों की प्रगति रिपोर्ट जांची। कार्यों के प्रति लापरवाही बरतने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही।
बीईओ ने निरीक्षण के दौरान बाल जनगणना पर विशेष जोर दिया। नामांकन की संख्या बढ़ाने और समय-समय पर विद्यालय चलो अभियान की रैली निकालने के निर्देश दिए। उन्होंने परिषदीय चौना, कोंगा, बैना समेत दर्जनों विद्यालयों का निरीक्षण किया। उधर, बभनी ब्लाक क्षेत्र में लगभग 17 ऐसे विद्यालय हैं जो अत्यंत जर्जर हैं। निरीक्षण में बीईओ से ग्रामीणों ने कड़ी नाराजगी जताई। कहा कि जर्जर विद्यालय के नीचे से बच्चों के आवागमन के दौरान कोई हादसा हो जाए तो जिम्मेदार कौन होगा। बीईओ ने कहा कि पीडब्लूडी के इंजीनियर को जांच कर रिपोर्ट मांगी गई थी लेकिन अभी तक नहीं मिली है। बैना में ग्राम प्रधान रामरतन ने कहा कि जर्जर विद्यालय को ढहाये जाने की लिखित शिकायत ब्लाक के अधिकारियों को भी दे दी है। मौके पर प्रभारी प्रधानाध्यापक चंद्रशेखर, देवराज, अवधेश कुमार,सोबरन सफाई कर्मी अजय कुमार, राजकुमार सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद रहे।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇