दूसरी भर्तियों में संभावित कटआफ अंक ने डराया

प्रयागराज , उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) ने प्रारंभिक पात्रता परीक्षा (पीईटी) का कटआफ अंक परिणाम के साथ जारी नहीं किया। अब अलग भर्ती के लिए अलग कटआफ अंक परीक्षा की तिथि घोषित करने के बाद निर्धारित करने से प्रतियोगी असमंजस में पड़ गए हैं। 



उन्हें आशंका है कि यूपीएसएसएससी न जाने किस परीक्षा का कितना कटआफ अंक जारी कर बाहर कर दे और उनकी आगे की भर्ती परीक्षाओं के लिए की गई तैयारी व्यर्थ हो जाए। ऐसे में प्रतियोगियों ने हर परीक्षा के लिए एक निर्धारित नार्मलाइज्ड कटआफ अंक जारी किए जाने की मांग उठाई है। पहले तो अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अपने ही जारी परीक्षा कैलेंडर का अनुपालन नहीं कर पाया। 




प्रारंभिक पात्रता परीक्षा जरूर समय पर कराई, लेकिन भर्ती परीक्षाएं पिछड़ गईं। राजस्व लेखपाल की जो परीक्षा अब 19 जून को प्रस्तावित है, वह कैलेंडर में नवंबर 2021 को होनी थी। इसमें पीईटी का कटआफ अंक पांच मई को घोषित किए जाने से आवेदन कर चुके 11,42,638 अभ्यर्थी परीक्षा से बाहर हो गए। 


इसके अलावा स्वास्थ्य कार्यकर्ता भर्ती परीक्षा के लिए पीईटी में एक अंक पाने वाले अभ्यर्थी भी शामिल हुए। आयोग ने अन्य भर्ती परीक्षाओं के लिए परीक्षा की नई तिथि घोषित की है। वर्तमान में आयोग ने पूर्ति निरीक्षक (सप्लाई इंस्पेक्टर) के 75 पदों के लिए भर्ती विज्ञापन निकाला है। इसमें कोई कटआफ अंक जारी नहीं किया गया है। ऐसे में पीईटी में एक अंक पाने वाले अभ्यर्थियों को भी आवेदन का अवसर दिया गया है। 25 रुपया शुल्क लिया जा रहा है। प्रतियोगी सुनील यादव, अनिरुद्ध आदि का कहना है कि आशंका बनी हुई है कि कहीं लेखपाल भर्ती परीक्षा की तरह इस भर्ती में कटआफ अंक बाद में न जारी कर दिया जाए। ऐसे में मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर अभ्यर्थियों ने मांग की है कि पीईटी का नार्मलाइज्ड कटआफ अंक जारी कर दिया जाए, ताकि प्रतियोगी इस भय से मुक्त होकर परीक्षाओं की तैयारी कर सकें। कटआफ अंक बाद में निर्धारित होने से अनर्ह अभ्यर्थियों की परीक्षा के लिए की जा रही तैयारी व्यर्थ हो जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇