खुलासा : फर्जी दस्तावेजों से नियुक्त शिक्षक 12 साल बाद बर्खास्त,


बस्ती, । बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूल में दूसरे के अभिलेखों पर फर्जी तरीके से सहायक अध्यापक बन 12 साल तक नौकरी करने वाले को बीएसए ने बर्खास्त कर दिया है। साथ ही खंड शिक्षा अधिकारी गौर को वेतन रिकवरी और मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया है। एसटीएफ की जांच में फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ था।


सांऊघाट ब्लॉक के परिषदीय कंपोजिट विद्यालय खझौला में सहायक अध्यापक पद पर कार्यरत राजेश कुमार का सहायक अध्यापक पद पर चयन 2010 में हुआ था। एसटीएफ की जांच में यह बात सामने आई कि राजेश कुमार ने किसी दूसरे के अभिलेखों का प्रयोग कर नौकरी हासिल की है। इसी नाम के असली शिक्षक राजेश कुमार अयोध्या जनपद में मिल्कीपुर ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय नरेन्द्र भदा में कार्यरत हैं। अभिलेखों का गलत प्रयोग कर बस्ती में तैनात फर्जी अध्यापक ने नौकरी हासिल कर ली थी।

● एसटीएफ की जांच में हुआ खुलासा

● अभिलेख में संतकबीरनगर का पता है दर्ज

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇