प्रदेश के 44 हजार जूनियर हाईस्कूल में लगेंगे इंसीनरेटर


लखनऊ। प्रदेश के सभी जूनियर स्कूलों में अब इंसीनरेटर (सेनेट्री पैड नष्ट करने की मशीन) लगाया जाएगा। पंद्रहवें वित्त आयोग की धनराशि से इंसीनरेटर लगाए जाएंगे। इस संबंध में महानिदेशक विजय किरन आनंद ने आदेश जारी कर दिया है। इससे प्रदेश के 44 हजार जूनियर स्कूलों की बालिकाओं को लाभ मिलेगा।जिन कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में इंसीनरेटर नहीं है, वहां भी स्थापना करने के आदेश हैं। केजीबीवी में सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन और इंसीनरेटर पहले से ही लगा हुआ है। उन सभी को क्रियाशील करने के निर्देश हैं। इन इंसीनरेटरों की स्थापना, रखरखाव व प्रचार प्रसार के लिए स्कूलों को स्वच्छ भारत मिशन फेज दो व पंद्रहवें वित्त आयोग के प्राविधानों के मुताबिक फण्ड उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके

रखरखाव की समीक्षा की जाएगी। केजीबीवी में बीएसए व बीईओ के नेतृत्व में समीक्षा की जाए और सभी इंसीनरेटरों को क्रियाशील बनाया जाए। जुलाई 2022 में स्कूलों में अभियान चलाते हुए माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के मुद्दों पर जनसमुदाय को जागरूक किया जाए। इंसीनरेटरों के इस्तेमाल के लिए मॉकड्रिल करते हुए बालिकाओं को प्रशिक्षित किया जाए।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇