अब स्टेशनरी के लिए भी बच्चों को मिलेगा अनुदान, हर छात्र को कापी-पेंसिल के लिए मिलेगा 100 रुपये


ज्ञानपुर। परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले करीब दो लाख बच्चों को मिलने वाले अनुदान में बढ़ोतरी हुई है। ड्रेस, जूता-मोजा, स्वेटर के साथ ही अब स्टेशनरी के लिए भी सहायता मिलेगी। अभी तक प्रत्येक छात्र को 1100 रुपये मिलते थे, लेकिन अब 1200 रुपये मिलेंगे। यह बढ़ोतरी कॉपी और पेंसिल के लिए की गई है।

जिले के 892 प्राथमिक, पूर्व माध्यमिक और कंपोजिट विद्यालय में पहली से आठवीं कक्षा तक करीब रही है। दो लाख बच्चे पंजीकृत हैं। बेहतर पठन-पाठन और छात्र संख्या बेहतर करने के लिए सरकार तमाम योजनाएं चला रही हैं। कोविड काल से ही यूनिफार्म, स्वेटर, जूते-मोजे के अनुदान की रकम सीधे अभिभावकों के खाते में 1100-1100 भेजी जा रही है.

अब स्टेशनरी के लिए भी हर छात्र 100 रुपये अतिरिक्त दिया जाएगा जिससे 1100 रुपये की जगह अब 1200 रुपये डीबीटी करने की तैयारी हो रही है। इसके लिए छात्रों का ब्योरा भी मांगा गया है। प्रेरणा पोर्टल पर हर छात्र की पूरी कुंडली तैयार हो रही है। जो नए नामांकन हो रहे हैं, उनकी फीडिंग भी सात जुलाई तक कराने के निर्देश दिए गये हैं। अतिरिक्त मिलने वाले 100 रुपये से चार कॉपी, दो पेंसिल, दो पेन, दो रबर और दो शार्पनर खरीदना होगा।

बताते चलें कि समग्र शिक्षा अभियान के तहत निशुल्क पाठ्य पुस्तकें संग अभ्यास पुस्तिकाएं दी जाती हैं लेकिन बड़ी कक्षाओं में कॉपियों की भी जरूरत होती है। अभी तक कॉपी-पेंसिल के लिए अभिभावकों को अपना पैसा खर्च करना पड़ता था। कुछ जगहों पर शिक्षक अपने निजी प्रयासों से कॉपी पेंसिल मुहैया करवाते थे।


स्टेशनरी की रकम 100 रुपये तय की गई है। अभी शासन स्तर पर मामला तय हुआ है। इसको लेकर आदेश नहीं आया है। जैसे आदेश आएगा उसे प्रभावी बनाया जाएगा। डीबीटी से सीधे अभिभावकों के खाते में रकम भेजी जानी है। 1 भूपेंद्र नारायण सिंह, बीएसए

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇