अनुदेशकों के सामने परिवारों के भरण पोषण का संकट




लखनऊ। बेसिक अनुदेशक शिक्षक संघ ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से मुलाकात कर अनुदेशकों की समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष शशांक मिश्र ने ज्ञापन में कहा कि परिषदीय स्कूलों में कार्यरत अनुदेशक शिक्षकों के सामने उनके परिवारों के भरण पोषण का संकट है। सरकार की ओर से मिलने वाले अत्यंत अल्प मानदेय में परिवार चलाना काफी मुश्किल हो रहा है।




पूर्णकालिक शिक्षकों की तरह अनुदेशक भी शिक्षण कार्य कर रहे हैं. फिर उनके साथ इस तरह का व्यवहार क्यों किया जा रहा है। वर्ष 2017 में हाईकोर्ट ने 17000 रुपये मानदेय देने का आदेश जारी किया था, लेकिन सरकार ने इस संबंध में कोई मानदेय जारी नहीं किया। उन्होंने सरकार से मांग की कि अनुदेशक शिक्षकों को नियमित किया जाए, जनपदीय व अंतरजनपदीय स्थानांतरण का आदेश जारी करने के साथ ही अनुदेशकों को भी मेडिकल व अन्य शिक्षकों की भांति सुविधाएं दी जाएं। उन्होंने मुख्यमंत्री से मुलाकात करने का समय भी मांगा की है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇