शिक्षामित्रों ने फिर उठाया स्थाई समाधान का मुद्दा,अल्प मानदेय वृद्धि स्वीकार नहीं


 शिक्षामित्रों ने फिर उठाया स्थाई समाधान का मुद्दा,अल्प मानदेय वृद्धि स्वीकार नहीं 
उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ की बैठक में शिक्षामित्रों ने प्रदेश सरकार द्वारा पांच साल में स्थाई समाधान न किए जाने पर रोष व्यक्त किया है।सरकार से जल्द स्थाई समाधान किए जाने की मांग उठाई है।



बीआरसी केन्द्र पर आयोजित हुई बैठक में जिला मीडिया प्रभारी पदम सिंह ने कहा कि भाजपा ने वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव से पहले शिक्षामित्रों की समस्याओं का समाधान तीन महीने के अंदर करने का संकल्प पत्र में वायदा किया था। सरकार को लगभग पांच वर्ष का समय हो रहा है लेकिन आज तक सरकार ने अपना वायदा पूरा नहीं किया है। शिक्षामित्रों का स्थाई समाधान नहीं हो पाया है। अशोक यादव ने कहा कि डेढ़ लाख शिक्षामित्र सरकार द्वारा समस्या समाधान न किए जाने से मानसिक रूप से परेशान हैं। जिला महामंत्री नेमपाल सिंह ने कहा कि सरकार को स्थाई समाधान करना चाहिए। जनपद स्तर पर भी अधिकारी शिक्षामित्रों के साथ तानाशाही रवैया अपना रहे हैं जो निंदनीय है। इस दौरान सत्यपाल सिंह, बृजेश कुमार, चंद्रपाल सिंह, राजभान सिंह, प्रमोद कुमार शर्मा, सुधीर कुमार शर्मा, ओंकार सिंह, हेमवती, वीरवाला आदि रहे।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇