छात्रों की उपस्थिति के लिए बेसिक शिक्षक लगाएंगे जोर

  Sonebhadra: परिषदीय विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए शिक्षक अब पूरी तरह जिम्मेदार होंगे। सीडीओ ने सभी विद्यालयों में 80 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। ऐसा न होने पर इसे शिक्षकों की उदासीनता मानते हुए कार्रवाई की जाएगी।


बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ हुई समीक्षा बैठक में सीडीओ डॉ. अमित पाल शर्मा ने स्कूलों में कम छात्र उपस्थिति पर नाराजगी जाहिर की थी। इसे लेकर बीएसए हरिवंश कुमार को सभी स्कूलों में नामांकन के सापेक्ष कम से कम 75 से 80 फीसदी छात्रों की उपस्थिति को सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। बेसिक शिक्षा विभाग निर्देश के अनुरूप अब छात्रों की उपस्थिति को बढ़ाने में जुट गया है। स्कूलों में छात्रों के उपस्थिति की मॉनिटरिंग भी सीडीओ करेंगे। इसे लेकर शिक्षक तैयारियों में जुट गए हैं। शिक्षकों के सामने चुनौती यह भी है कि कई ऐसे छात्र हैं जिनका नामांकन परिषदीय विद्यालय के साथ ही निजी स्कूलों में भी है। वहीं कई ऐसे छात्र हैं जो अपने माता पिता के साथ अन्य कामों में लगे रहते हैं। ऐसे में उपस्थिति को मेंटेन कर पाना एक बड़ी चुनौती बन गया है। उनका कहना है कि कई ऐसे अभिभावक हैं जो छात्रों को स्कूल भेजने में रुचि नहीं लेते हैं। वहीं निगरानी के लिए मिशन निपुण भारत और बाल वाटिका कार्यक्रम के तहत सभी विद्यालयों से गूगल फार्म के माध्यम से दैनिक छात्र उपस्थिति दर्ज कराई जा रही है। वहीं बीएसए हरिवंश कुमार ने परिषदीय विद्यालयों में छात्र उपस्थिति और नामांकन बढ़ाने के लिए शिक्षकों को विद्यालय प्रबंध समिति और अभिभावकों का सहयोग लेने के लिए निर्देशित किया गया है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇