उत्पीड़न के खिलाफ शिक्षकों का बीएसए कार्यालय पर प्रदर्शन

Aligarh    बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों का उत्पीड़न और अनियमितता के विरोध में उत्तर प्रदेशीय जूनियर हाईस्कूल (पूर्व माध्यमिक) शिक्षक संघ ने मंगलवार को बीएसए कार्यालय पर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान हंगामे की सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई।

शिक्षक संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. प्रशांत शर्मा के नेतृत्व में शिक्षक-शिक्षिकाओं ने बीएसए कार्यालय पर धरना देकर प्रदर्शन किया। डॉ. प्रशांत ने बताया कि शिक्षक वर्ग का उत्पीड़न किया जा रहा है। इसका उदाहरण विकासखंड चंडौस के पूर्व माध्यमिक विद्यालय मोरेहना में तैनात रहीं सहायक शिक्षिका पार्वती शर्मा हैं, जो प्रधानाध्यापिका की शिक्षक विरोधी गतिविधियों की जानकारी विभाग को देती रहीं। जांचोपरांत शिकायतकर्ता पार्वती शर्मा का तबादला इगलास कर दिया गया। इसके अलावा 12 शिक्षकों के एक दिन के वेतन कटौती बहाल नहीं की गई।


उन्होंने कहा कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय महाउरू के लिपिक कौशल किशोर गुप्ता की कोरोना से अप्रैल 2021 को मृत्यु हो गई थी। उनकी पत्नी के नाम से पेंशन आगरा से बनकर आ गई है, लेकिन बीएसए कार्यालय के बाबू पेंशन देने में आनाकानी कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान हंगामे की सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। प्रदर्शन में प्रांतीय उपाध्यक्ष विमल कुमार चौहान, मंडलीय संयुक्त मंत्री राजवीर सिंह, जिला महामंत्री इंद्रजीत सिंह, ब्लॉक लोधा अध्यक्ष महेश चंद्र राजपूत, मंत्री रवींद्र कुमार कश्यप, मंत्री चंडौस विजय कुमार, अनुज प्रताप सिंह, सुनील वार्ष्णेय, रूम सिंह वर्मा, राजकुमार, जेपी सिंह, देववती, प्रमिला आर्य, जयंती, शिवानी सिंह, प्रतिभा वशिष्ठ, सुलोचना जोशी, अनिल कुमार वर्मा, देवदत्त, राकेश कुमार आदि मौजूद रहे। इस संबंध में बीएसए सतेंद्र कुमार ने बताया कि जो आरोप लगाए गए हैं, वह निराधार है। 

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇