आरोप की जाँच सही पाए जाने पर शिक्षिका निलंबित


हीमपुर दीपा जांच में शिकायतों के सही पाए जाने पर शिक्षिका को निलंबित कर दिया गया। प्राथमिक स्कूल हीमपुर दीपा प्रथम की मुख्य शिक्षिका पर बच्चों को मिड डे मील नहीं खिलाने, डीवीटी कार्य नहीं करने और अनुशासनहीनता बरतने की शिकायत पर कार्रवाई हुई है। निलंबन अवधि मुख्य तक अध्यापिका की दूसरे प्राथमिक विद्यालय से संबद्ध किया गया है।
विकासखंड जलीलपुर प्राथमिक विद्यालय होमपुर दीपा प्रथम में कार्यरत सहायक अध्यापिका मोहिनी देशवाल, प्रिया वर्मा तथा शिक्षामित्र सोनिका ने 25 मार्च 2022 को विद्यालय में मुख्य अध्यापक पद पर तैनात कुमारी मंजू लता के खिलाफ आईजीआरएस पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें आरोप था कि मुख्य अध्यापिका कुमारी मंजूलता विद्यालय के हित में कार्य नहीं करतो, जिससे विद्यालय को गरिमा को आघात पहुंच रहा है। साथ ही मिड डे मील में बच्चों को खाना भी नहीं खिलाती है। इतना ही नहीं डीबीटी कार्य भी नहीं किया है पूरी तरह अनुशासनहीनता बरत रही हैं। शासन के निर्देश पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने विकासखंड जलीलपुर खंड शिक्षा अधिकारी को मामले की जांच के आदेश दिए थे। रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जय करण यादव ने प्रारंभिक तौर पर मुख्य अध्यापिका की प्राथमिक विद्यालय प्रथम से हटाकर प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में अटैच कर दिया। इसके बावजूद भी लगातार शिकायत मिलने के चलते मुख्य अध्यापिका मंजू लता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबित मुख्य शिक्षिका निलंबन अवधि तक प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में ही रहेंगी। उन्होंने शिकायतकर्ताओं के आरोपों की जांच कराने के लिए बीईओ नूरपुर को 15 दिन के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिए हैं। वहीं, निलंबित मुख्य अध्यापिका मंजूलता का कहना है कि उन्होंने कोई गलत कार्य नहीं किया है। जैसा विभागीय उच्चाधिकारियों का आदेश है, उसका पालन किया जाएगा।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇