हस्ताक्षर कर प्रधानाध्यापक हो जाते थे गायब, जांच में पकड़े गए


प्रयागराज। जिले के परिषदीय स्कूलों की हालत में सुधार नहीं रहा है। सोमवार सुबह बीएसए बाइक से होलागढ़ ब्लॉक के विद्यालयों का निरीक्षण करने पहुंचे। कई स्कूलों में शिक्षक गायब मिले। एक प्रभारी प्रधानाध्यापक तो साइन कर निकल जाते थे। सोमवार को जब बीएसए के स्कूल पहुंचने की खबर मिली तो वह साढ़े नौ बजे विद्यालय पहुंचे।


बीएसए सबसे पहले प्राथमिक विद्यालय पश्चिम नारा पहुंचे तो विद्यालय बंद मिला। इसके बाद पूर्व माध्यमिक विद्यालय पूरब नारा के निरीक्षण को पहुंचे। यहां भी विद्यालय बंद पाया गया। दोनों विद्यालयों में कार्यरत समस्त शिक्षकों का अनुपस्थिति तिथि का वेतन रोक दिया है। प्राथमिक विद्यालय पूरबनारा में नामांकित 255 बच्चों के सापेक्ष महज 28 बच्चे उपस्थित पाए गए। विद्यालय में अन्य कई अव्यवस्थाएं पाई गई। विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका और शिक्षामित्र निरीक्षण के बाद उपस्थित हुई। विद्यालय में रेमेडियल कक्षाओं के संचालन, दीक्षा के प्रयोग, क्यूआर कोड अथवा अन्य किसी शैक्षिक गतिविधि के संबंध में स्थिति संतोषजनक नहीं पाई गई।

प्रधानाध्यापक का सितंबर माह का वेतन रोकते हुए उनसे स्पष्टीकरण मांगा है। इसके बाद प्राथमिक विद्यालय जलिया सराय, प्राथमिक विद्यालय देवराज का पूरा में नामांकन के सापेक्ष बच्चे कम उपस्थित मिले। शिक्षक भी अनुपस्थित मिले। पूर्व माध्यमिक विद्यालय सराय चंद्रभान ओहरा में नामांकित 66 बच्चों के सापेक्ष केवल 24 बच्चे उपस्थित पाए गए। प्रभारी प्रधानाध्यापक पूर्व तिथि में भी हस्ताक्षर कर गायब रहे थे। निरीक्षण के दौरान वह विद्यालय पहुंचे। प्रभारी प्रधानाध्यापक यह भी नहीं बता पाए कि वह किस कक्षा में कौन सा विषय पढ़ाते हैं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇