बीएड काउंसलिंग के आदेश का पत्र वायरल, रुहेलखंड विवि के कुल सचिव ने बताया फर्जी


बरेली। बीएड प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित होने के बाद अब काउंसलिंग का इंतजार है। मंगलवार को काउंसलिंग के लिए प्रमुख सचिव की ओर से रुहेलखंड  विश्वविद्यालय के कुलसचिव को संबोधित एक पत्र वायरल हुआ। इसमें 30 सितंबर से 31 अक्तूबर तक काउंसलिंग प्रक्रिया संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं। इस पत्र को कुलसचिव ने फर्जी बताते हुए नकार दिया है।

मंगलवार को वायरल हुए पत्र में प्रमुख सचिव डॉ. सुधीर एम. बोवडे की ओर से रुहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलसचिव को संबोधित करते हुए कहा गया है कि रुहेलखंड विश्वविद्यालय की ओर से कराई गई संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा- 2022 की काउंसलिंग का संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया है।

इसके तहत प्रथम चरण 30 सितंबर से 31 अक्तूबर तक चलेगा। अंतिम सत्र 10 अक्तूबर से शुरू होगा। सात से 15 नवंबर तक पूल काउंसलिंग होगी। 21 से 25 नवंबर तक डायरेक्ट काउंसलिंग की जाएगी। पत्र में इस कार्यक्रम के तहत ही काउंसलिंग शुरू करने की अनुमति प्रदान करने की बात कही गई है।


इस संबंध में कुलसचिव डॉ. राजीव कुमार का कहना है कि संबंधित पत्र के बारे में उन्हें कोई सूचना या जानकारी नहीं मिली है। काउंसलिंग के संबंध में शासनादेश अथवा दिशानिर्देश प्राप्त होते तो इसकी सूचना उन्हें प्राप्त होती पर यह पत्र तथ्यात्मक प्रतीत नहीं हो रहा।

पत्र में कई शाब्दिक त्रुटियां और संबोधन के साथ ही जो हस्ताक्षर किए गए हैं, वह भी गलत हैं। कुलसचिव के नाम के साथ दर्ज हस्ताक्षर भी उनके नहीं हैं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇