प्रधानाध्यापक पर शिक्षक का फर्जी हस्ताक्षर करके स्कूल से गैरहाजिर रहने की छूट देने का आरोप, बीएसए ने की कार्रवाई

सिद्धार्थनगर। बीएसए देवेंद्र कुमार पांडेय ने बुधवार को मिटवल के प्राथमिक विद्यालय बनगवा के प्रधानाध्यापक समेत पाच शिक्षकों व एक शिक्षा मित्र का अग्रिम आदेश तक वेतन व मानदेय पर रोक लगा दिया है। प्रधानाध्यापक पर एक शिक्षक का फर्जी हस्ताक्षर करके स्कूल से गैरहाजिर रहने की छूट देने का आरोप है, जबकि शेष पर बिना सूचना के गायब रहने का आरोप है।






बीएसए ने बताया कि 26 अप्रैल को जोगिया क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय निपनिया के निरीक्षण में सहायक अध्यापक शशिप्रभा यादव व शिक्षा मित्र विजय कुमार गुप्त बिना सूचना के अनुपस्थित मिले थे। बीएसए ने शिक्षामित्र का मानदेय व शिक्षक का वेतन अग्रिम आदेश तक रोक दिया है। जोगिया क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय करोदा नानकार के निरीक्षण में सहायक अध्यापक दीपिका पांडेय 25 व 26 अप्रैल को बिना सूचना के गायब थी। बीएसए ने इनका वेतन रोक दिया है। वहीं मिटवल के प्राथमिक विद्यालय बनगवा के प्रधानाध्यापक सुग्रीव वर्मा का वेतन अग्रिम आदेश तक रोक दिया गया है। इन पर आरोप है कि प्राथमिक विद्यालय सुमहा में सहायक अध्यापक मणि पांडेय का फर्जी हस्ताक्षर करके अनाधिकृत रूप से उन्हें विद्यालय से गायब रखा है। सुग्रीव वर्मा के पास प्राथमिक विद्यालय सुमहा का भी प्रभार है। बीएसए ने मिटवल ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय सुमहा का 16 मार्च को निरीक्षण किया था। उस समय सहायक अध्यापक मणि पांडेय अनुपस्थित रही, जबकि रजिस्टर में उनका हस्ताक्षर बना हुआ था। वहीं खंड शिक्षा अधिकारी भनवापुर के निरीक्षण में कंपोजिट विद्यालय शाहपुर को सहायक अध्यापक सुमन अग्रहरि 31 मार्च से एक अप्रैल तक व सहायक अध्यापक प्रियंका सिंह 21 मार्च से एक अप्रैल तक बिना सूचना के अनुपस्थित थीं बीएसए ने अग्रिम आदेश तक उनका वेतन रोक दिया है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇