यूपी बोर्ड के 150 स्कूलों में व्यवसायिक शिक्षा अनिवार्य


UPMSP UP Board Syllabus : यूपी बोर्ड के कक्षा 9-10 व कक्षा 11-12 में अब व्यावसायिक शिक्षा दी जाएगी। विद्यार्थी को एक ट्रेड की पढ़ाई करना अनिवार्य होगा। पहले चरण में प्रदेश के 150 स्कूलों में कोर्स चलाए जाएंगे। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा विभाग व्यावसायिक शिक्षा विभाग के साथ एमओयू करने जा रहे है।


प्रदेश के हर जिले के दो-दो सरकारी स्कूलों का चयन किया गया है। व्यावसायिक शिक्षा के आठ सेक्टरों के 16 कोर्सों का चयन किया गया है। इन सबकी अवधि अलग-अलग है। ज्यादातर कोर्स 12 से 15 महीने के हैं। इनमें विद्यार्थी को प्रमाणपत्र दिया जाएगा। इसकी कोई परीक्षा नहीं ली जाएगी और अभी इसका यूपी बोर्ड के विषयों से कोई लिंकेज नहीं है।

आईटी से जुड़े ट्रेड अभी हर स्कूल में चलाए जाएंगे। वहीं सभी स्कूलों में सारे ट्रेड नहीं होंगे बल्कि एक या दो सेक्टर के ट्रेड ही होंगे। कक्षा 9 व कक्षा 11 के विद्यार्थियों का नामांकन इसमें होगा। नई शिक्षा नीति में व्यावसायिक शिक्षा को स्कूली शिक्षा का अनिवार्य अंग बनाने की बात है। नीति के मुताबिक इसका मूल्यांकन किए जाने और बोर्ड परीक्षा में किसी सामान्य विषय में फेल होने पर उसे व्यावसायिक शिक्षा के परिणाम से परिवर्तित करने का भी नियम है लेकिन शुरुआती दौर में यूपी बोर्ड से इसे अलग रखा गया है।

ये हैं व्यावसायिक शिक्षा के सेक्टर और ट्रेड-

परिधान निर्माण- सिलाई मशीन ऑपरेटर, टेलरिंगकृषि- सब्जियों की फसल उगाना, गार्डनिंग

ऑटोमोटिव- चौपहिया वाहन सर्विस असिस्टेंट, चौपहिया वाहन सर्विस टेक्नीशियनब्यूटी व वेलनेस- असिस्टेंट ब्यूटी थेरेपिस्ट, ब्यूटी थेरेपिस्ट

ऊर्जा- केबल ज्वाइंटर इलेक्ट्रिकल पॉवर सिस्टम, कंज्यूमर एनर्जी मीटर टेक्नीशियनआईटी-आईटीईएस- डोमेस्टिक डाटा एंट्री ऑपरेटर, जूनियर सॉफ्टवेयर डेवलपर

शारीरिक शिक्षा- फिटनेस ट्रेनर, फिजिकल एजुकेशन असिस्टेंटरीटेल- रीटेल स्टोर ऑपरेशंस असिस्टेंट, रीटेल सेल्स एसोसिएट


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇