बारह शिक्षक, शिक्षामित्र अनुपस्थित, एक दिन का वेतन और मानदेय रोकते हुए मांगा गया स्पष्टीकरण



 ज्ञानपुर। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति की स्थिति ठीक नहीं है बृहस्पतिवार को बीएसए बीईओ और जिला समन्वयकों ने 15 से अधिक विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इसमें 12 शिक्षक और शिक्षामित्र अनुपस्थित मिले। सभी का एक दिन का वेतन और मानदेय रोकते हुए स्पष्टीकरण मांगा गया।






जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भूपेंद्र नारायण सिंह बृहस्पतिवार को सुबह आठ बजे प्राथमिक विद्यालय चकमान सिंह पहुंचे। यहां पर रुककर प्रार्थना कराई। अनुपस्थित सहायक अध्यापिका रिकी मौर्य का वेतन रोकने का निर्देश दिया। उसके बाद कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय सुरियावां में पहुंचकर पठन-पाठन औ साफ सफाई को देखा। बच्चों संग बैठ कर मध्यान भोजन किया। इसके अलावा खंड शिक्षा अधिकारी औराई



आशीष मिश्रा, बीईओ वेद प्रकाश यादव, यशवंत सिंह, जिला समन्वयक शिवम सिंह, डीसी बालिका धीरज कुमार सिंह ने भी कई स्कूलों का निरीक्षण किया।




इसमें प्राथमिक विद्यालय अलमऊ के शिक्षक अब्दुल कादिर, चकिया में मीना कुमारी, रघुनाथपुर में सुभाष चंद्र छत्रशाहपुर में गणेश शंकर त्रिपाठी, मैलोना मुस्लिम बस्ती में कृपा शंकर यादव अनुपस्थित मिले शिक्षक-शिक्षामित्र ज्ञानेंद्र



मिश्रा, आलोक कुमार यादव, रिचा श्रीवास्तव, संगीता यादव, सुभाष सिंह कुशवाहा और ऊषा कुमारी भी विद्यालय से गैरहाजिर रहीं।



बीएसए ने सभी का एक दिन का वेतन और मानदेय रोकते हुए स्पष्टीकरण मांगा। उन्होंने शिक्षकों, शिक्षामित्रों और अनुदेशकों को निर्देश दिया कि शैक्षणिक कार्य में किसी भी स्तर में लापरवाही न बरती जाए। उपस्थिति में सुधार लाएं अन्यथा कठोर कार्रवाई होगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇