सूदखोरों से परेशान होकर प्रधानाध्यापक ने स्कूल में की आत्महत्या


 महराजगंज, सूदखोरों से परेशान धानी ब्लाक क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय करमहा में तैनात प्रधानाध्यापक शिवकुमार ने अपने ही विद्यालय में आत्महत्या कर लिया। साथ ही सुसाइड नोट लिखकर तीन लोगों को अपनी मृत्यु का जिम्मेदार बताया है। पुलिस सुसाइड नोट के आधार पर मामले की छानबीन में जुट गई है। इस घटना से पूरे क्षेत्र में हड़कंप है।








यह है मामला



बृजमनगंज थाना क्षेत्र के झांगपार गांव निवासी शिवकुमार धानी ब्लाक क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय करमहा में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात थे। रविवार को घर पर तगादा करने आए कुछ लोगों से कहा सुनी के बाद वह घर से विद्यालय पर कुछ कागजी कार्यवाही की बात कहकर निकले, लेकिन घर नहीं लौटे। देर शाम तक स्वजन उनकी खोजबीन करते रहे। इसी बीच देर रात को पुलिस को सूचना देते हुए ग्रामीणों के साथ स्वजन विद्यालय पर पहुंचे तो पाया कि गेट के समीप ही उनकी बाइक खड़ी है। प्रधानाध्यापक कक्ष की तरफ बढ़े तो पाया कि प्रधानाध्यापक कक्ष का दरवाजा अंदर से बंद था।



दो लाख का सात लाख चुकाया फिर कर रहे थे प्रताडि़त



दरवाजा तोड़ने पर देखा कि प्रधानाध्यापक वहीं कमरे में मृत अवस्था पड़े हुए थे। वहीं बगल में एक सुसाइड नोट भी मिला। सुसाइड नोट में मृत शिक्षक ने तीन लोगों पर आरोप लगाते हुए कहा है, कि उनसे उन्होंने दो लाख रुपये उधार लिए थे। जिसके बदले उनको विभिन्न किस्तों में अबतक सात लाख रुपये दे चुका हूं। इसके बावजूद वह हमारे चेक के माध्यम से हमें प्रताड़ित कर रहे हैं। जिसके चलते मैं आत्महत्या कर रहा हूं। जिसके जिम्मेदार यही तीनों लोग हैं।



पुलिस ने शुरू की जांच, एसपी ने कहा बख्शे नहीं जाएंगे आरोपी




पुलिस अधीक्षक डा. कौस्तुभ ने बताया कि देर रात दरवाजा तोड़कर शव को विद्यालय से बरामद किया गया है । शव के पास से बरामद सुसाइड नोट के आधार पर जांच पड़ताल की जा रही है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇