69000 शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों को मिला मायावती का साथ, बोलीं- जायज मांगों पर तुरंत अमल करे सरकार

अपनी मांगों को लेकर लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों के पक्ष में बसपा सुप्रीमो मायावती भी उतर आई हैं। उन्होंने शनिवार की रात अभ्यर्थियों पर हुए लाठीचार्ज की निंदा की और सरकार से उनकी मांगों पर विचार करने की अपील की है।



उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यूपी में 69 हजार शिक्षक भर्ती के पुराने व लम्बित मामले को लेकर राजधानी लखनऊ में कल रात शान्तिपूर्ण कैंडल मार्च निकालने वाले सैकड़ों युवाओं का पुलिस लाठीचार्ज करके घायल करना अति-दुःखद व निन्दनीय है। सरकार इनकी जायज मांगों पर तुरन्त सहानुभूतिपूर्वक विचार करे, यह बसपा की मांग है।
शनिवार को अभ्यर्थियों पर हुआ था लाठीचार्ज
बेसिक के 69 हजार शिक्षक भर्ती में 22 हजार रिक्त सीटों को जोड़कर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की मांग को लेकर पांच माह से यहां निशातगंज स्थित एससीईआरटी पर आंदोलन कर रहे अभ्यर्थियों को शनिवार शाम 1090 चौराहे से मुख्यमंत्री आवास तक कैंडल मार्च निकालना भारी पड़ा। पुलिस ने इन्हें रास्ते में रोकने की कोशिश की और जब वे नहीं माने तो लोहिया पथ पर लाठियों से पीटकर खदेड़ा गया। इससे छह से अधिक अभ्यर्थियों को चोटें आईं हैं।

अभ्यर्थियों का आरोप है कि वे अपनी मांगों को लेकर कई बार डालीबाग स्थित मंत्री आवास पर बेसिक शिक्षामंत्री से मिलने गए और उनसे मुलाकात न होने पर वहां भी प्रदर्शन व नारेबाजी की। इसी तरह इनका आंदोलन लगातार चल रहा है। इसी क्रम में शनिवार शाम अभ्यर्थियों ने कैंडल मार्च निकाला। इससे पहले शनिवार दोपहर अभ्यर्थियों ने हजरतगंज स्थित भाजपा कार्यालय पर प्रदर्शन किया था। वहां से पुलिस इन्हें ईको गार्डन छोड़ आई।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇