विद्यालयों के अनुदेशकों ने बढ़े मानदेय को बताया छलावा


बहराइच: उच्च प्राथमिक विद्यालयों में तैनात अनुदेशकों ने सरकार की ओर से बढ़ाए गए मानदेय को छलावा बताया है। अनुदेशक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया कि वर्ष 2013 में कार्यरत अनुदेशकों को सपा ने 2016 में सात हजार रुपये से 8470 रुपये मानदेय दिया था। यह 2018 तक मिलता रहा।


भाजपा की सरकार बनने पर फिर से सात हजार मानदेय कर दिया गया। इसके साथ बढ़े हुए 1470 रुपये की रिकवरी नौ माह तक की गई। यह सबसे दुखद रहा। अब महज दो हजार रुपये मानदेय बढ़ाया गया है। इस तरह से अनुदेशकों को 530 रुपये ही का लाभ दिया जा रहा है।

संघ ने नियमितीकरण करने की सरकार से मांग की है। इस मौके पर प्रदेश सचिव प्रमोद कुमार, आशीष पांडेय, सलाहुद्दीन, विनीता त्रिपाठी, राजेंद्र सिंह, अजय मौर्य, जयकरन यादव, सरोज कौलिक, पंकज शुक्ल मौजूद रहे।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇