आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने दिया धरना, विभागीय अधिकारियों पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए बकाया मानदेय का भुगतान की मांग

 

बकाया मानदेय भुगतान की मांग की, डीएम को सौंपा ज्ञापन 
संतकबीरनगर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं ने रविवार को कलेक्ट्रेट में धरना दिया। इस दौरान विभागीय अधिकारियों पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए बकाया मानदेय का भुगतान तत्काल कराए जाने की मांग की। धरने के बाद मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।

महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी सघ को जिलाध्यक्ष मंजू चौधरी ने कहा कि छह माह से सभी परियोजनाओं में मानदेय का भुगतान नहीं हुआ है। इसके साथ ही कवि-19 का बकाया प्रोत्साहन राशि का भुगतान भी नहीं किया गया है।
कहा कि कुछ कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं का दो वर्षों से मानदेय का है। बोली एवं हेंसर की मिनी कार्यकर्ताओं का आठ माह का मानदेय बकाया है। तीन वर्षों से सभी कार्यकर्ताओं की वर्दी राशि का भुगतान बाकी है।
सेमरियाया में सभी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं का मह जनवरी फरवरी 2016 का अभी तक मानदेय बकाया है। इस पर तत्काल कदम उठाया जाए। कार्यवाहक अध्यक्ष नीरू मिश्रा ने कहा कि प्रत्येक माह परियोजनाओं पर तथा तीन माह पर संघ प्रतिनिधियों से वार्ता करने के शासन के आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है।
इसी तरह स्वयं सहायता समूह की लूट खसोट पर अधिकारी आंखें मुंदे हैं। इस बीच जिला कार्यक्रम अधिकारी धरना स्थल पर पहुंची
और स्थानीय समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया। साथ ही निदेशक के स्तर से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के मानदेय भुगतान के लिए प्रयास करने का आश्वासन दिया जिला कार्यक्रम अधिकारी ने 10 मई को ने सब के प्रतिनिधियों के साथ द्विपक्षीय वार्ता का भी आश्वासन दिया।
धरने को जिला संरक्षक अयोध्या प्रसाद चौधरी, जिला मंत्री गरिमा सिंह उपाध्यक्ष विमला राय औसिमा खातून, विमला चौधरी, पूनम देवी, राजमती, उषा मिश्रा, माण्डवा मिश्रा, हरिशंकर पांडेय ने भी संबोधित किया, जबकि उषा, निर्मला, पूनम, मालती, शीला, राधा रानी कृषा सिंह, कुसुम लता पांडेय, शशी कला पांडेय, सरला सिंह, मंजू यादव, मोमिना, प्रवीन सिंह, अंजना, पुष्पा, कमलावती, भारती राय, रेहाना खातून, राजेश्वरी यादव, चंद्रकला बबिता प्रेमा आदि मौजूद रहीं।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇