रिजल्ट बताएगा स्कूल में विद्यार्थी का व्यवहार


वाराणसी,। जिले के राजकीय और अर्द्ध शासकीय स्कूलों में इस साल से नए तरह के प्रगति पत्र या अंक पत्र जारी किए जाएंगे। इस रिपोर्ट कार्ड में विषयवार अंकों के अलावा पाठ्य सहगामी और व्यक्तिगत मूल्यांकन के ग्रेड भी होंगे। माध्यमिक स्कूलों का रिपोर्ट कार्ड पहली बार स्कूल में बच्चों के व्यवहार, नैतिक शिक्षा, खेलकूद और उनकी प्रतिभा के बारे में भी बताएगा। इसमें 10 बिंदुओं पर विद्यार्थियों का मूल्यांकन होगा।


माध्यमिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज के निर्देश पर जिले के सभी राजकीय और अर्द्ध शासकीय स्कूलों में इसका प्रारूप भेजा गया है। इसके तहत अब क्लास टीचर को बच्चों की अन्य गतिविधियों पर ग्रेड देने होंगे। प्रगति पत्र में परिवर्तन का मूल उद्देश्य बच्चों के सर्वांगीण विकास पर जोर देने के साथ ही अभिभावकों से भी बेहतर सामन्जस्य बनाना है। अब तक देखा गया है कि विषयों में बेहतर अंक लाने वाले छात्र ही अच्छे माने जाते हैं जबकि अनुशासन, उपस्थिति, सांस्कृतिक आयोजन, शिक्षणेत्तर प्रतिभा, नेतृत्व गुण, स्वच्छता और सौम्य व्यवहार करने वाले बच्चों को भले ही स्कूल में शाबासी मिले मगर अंकपत्र पर इनका कोई प्रभाव नहीं होता। प्रगति पत्र में यह बदलाव खास इसलिए भी है क्योंकि निजी स्कूलों में व्यक्तिगत मूल्यांकन का एक कॉलम रखा जाता है।

डीआईओएस गिरीश कुमार सिंह ने बताया कि नए प्रारूप के अनुसार इस सत्र से आंतरिक परीक्षा, अर्द्ध वार्षिक और वार्षिक परीक्षा में विषयवार अंकों के साथ व्यक्तिगत मूल्यांकन का ग्रेड भी देने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि इस ग्रेड के जरिए शिक्षक और अभिभावक बच्चों पर ज्यादा ध्यान दे पाएंगे।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇