यूपी की योगी सरकार ने इस वर्ष के दूसरे अनुपूरक बजट में हर वर्ग के लिए खोला खजाना, जानें- किसे कितना मिला

मिशन 2022 में सफलता के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मजदूरों, बुजुर्गों, महिलाओं और मानदेय कार्मिकों को साधने के लिए गुरुवार को खजाना खोल दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में जहां प्रदेश के तीन करोड़ से ज्यादा मजदूरों को चालू वित्तीय वर्ष में 2000 रुपये भरण पोषण अनुदान दिए जाने की घोषणा की, वहीं वृद्धावस्था, विधवा, दिव्यांगजन और कुष्ठावस्था पेंशन की धनराशि में 500 रुपये प्रति माह की वृद्धि करते हुए इनसे जुड़े 88 लाख लाभार्थियों को राहत देने का एलान किया। इन घोषणाओं को ईंधन देने के लिए सरकार ने गुरुवार को विधान सभा में चालू वित्तीय वर्ष के लिए 8479.53 करोड़ रुपये का दूसरा अनुपूरक बजट पेश किया। विधान सभा में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने अनुपूरक बजट पेश किया तो विधान परिषद में यह परंपरा नेता सदन डा. दिनेश शर्मा ने निभाई।



मजदूरों को अनुदान चार किस्तों में : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार असंगठित क्षेत्र के 2.5 करोड़ मजदूरों और उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड में पंजीकृत 60 लाख निर्माण श्रमिकों को 2000 रुपये भरण-पोषण अनुदान देगी। यह रकम दिसंबर, 2021 से मार्च 2022 तक 500-500 रुपये की चार मासिक किस्तों में दी जाएगी। असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को भरण-पोषण अनुदान देने के लिए अनुपूरक बजट में 4000 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।




88 लाख पेंशन लाभार्थियों को राहत : सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि प्रदेश के 56 लाख बुजुर्गों, 30.77 लाख विधवाओं और 11.15 लाख दिव्यांगों को दी जा रही 500 रुपये की मासिक पेंशन को दोगुना करते हुए इन्हें बढ़ाकर 1000 रुपये प्रति माह किया जाएगा। सूबे के 11,600 कुष्ठ पीड़ितों को दी जा रही 2500 रुपये की मासिक पेंशन को बढ़ाकर 3000 रुपये किया जाएगा। वृद्धावस्था/किसान पेंशन में वृद्धि के लिए अनुपूरक बजट में 670 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। नेत्रहीन, मूक-बधिर तथा शारीरिक रूप से दिव्यांगों के भरण-पोषण अनुदान में वृद्धि के लिए 167 करोड़ रुपये का इंतजाम किया गया है।


गरीब महिलाओं को इलाज के लिए पांच लाख की अतिरिक्त रकम : योगी ने कहा कि हमारी सरकार ने गरीब महिलाओं को असाध्य बीमारी के इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत अनुमन्य धनराशि के अलावा आवश्यकता होने पर पांच लाख रुपये की अतिरिक्त धनराशि प्रदान करने का निर्णय लिया है।


मानदेय कार्मिकों पर धन वर्षा : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चार विभागों में कार्यरत 12 लाख से अधिक कार्मिकों का मानदेय बढ़ाने की घोषणा भी सदन में की। बेसिक स्कूलों में कार्यरत शिक्षामित्रों व अनुदेशकों के मानदेय में प्रति माह 2000 रुपये और पीआरडी जवानों के मानदेय में 1500 रुपये बढ़ोतरी होगी। उन्होंने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण में कार्यरत आशा कार्यकर्ता व आशा संगिनी, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की आंगनबाड़ी व मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सहायिका तथा मध्याह्न भोजन योजना के तहत मिड डे मील पकाने वाली रसोइयों का मानदेय बढ़ाने का एलान भी किया।


चुनावी साल में बिजली पर फोकस : चुनावी साल में बिजली आपर्ति को बेहतर बनाने पर भी सरकार का जोर है। दूसरे अनुपूरक बजट में विद्युत व्यवस्था में सुधार के लिए 3382.5 करोड़ रुपये का इंतजाम किया गया है।

बाबा विश्वनाथ-गंगा आरती दर्शन का रखा ध्यान : काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग और गंगा आरती दर्शन को सुुगम बनाने के लिए गंगा घाट की विपरीत दिशा में राजघाट पुल से रामनगर तक चार लेन सड़क निर्माण व अन्य कार्यों के लिए प्रतीक रूप में एक लाख रुपये की व्यवस्था की है।

कार्मिकों का इतना बढ़ा मानदेय

कार्मिक : संख्या : मानदेय वृद्धि
आशा कार्यकर्ता : 1,77,382 : 750 रुपये
आशा संगिनी : 8013 : 750 रुपये
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता : 1,67,499 : 500 रुपये
मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता - 22,290 : 500 रुपये
आंगनबाड़ी सहायिका : 1,69,499 : 250 रुपये
शिक्षामित्र : 1,76,504 : 2000 रुपये
अल्पकालिक अनुदेशक : 41,307 : 2000 रुपये
एमडीएम रसोइया : 3,77,519 : 500 रुपये



अनुपूरक बजट में यह भी
उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन को क्षतिपूर्ति अनुदान : 1350 करोड़ रुपये
उदय योजना के तहत बिजली वितरण कंपनियों की हानियों की फंडिंग : 372.5 करोड़ रुपये
प्रदेश में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति के लिए पावर कारपोरेशन को अंशपूंजी : 1000 करोड़ रुपये
दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत विद्युत वितरण कार्यों के लिए अंशपूंजी : 300 करोड़ रुपये
सौभाग्य योजना में हाई टेंशन इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण के लिए अंशपूंजी : 175 करोड़ रुपये
सौभाग्य योजना के तहत विद्युतीकरण के लिए अंशपूंजी : 185 करोड़ रुपये
खेल विभाग के विभिन्न मद : 10 करोड़ रुपये
देश-विदेश में उप्र का गौरव स्थापित करने वाले ख्यातिलब्ध व्यक्तियों को उत्तर प्रदेश गौरव सम्मान देने के लिए प्रतीकात्मक एक लाख रुपये
मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष में वृद्धि : 100 करोड़ रुपये
सूचना विभाग को प्रचार-प्रसार के लिए : 150 करोड़ रुपये
शाहजहांपुर में स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय के रखरखाव के लिए : एक लाख रुपये


अगले वित्तीय वर्ष के पहले चार महीनों के लिए 1.95 लाख करोड़ का लेखानुदान : वित्त मंत्री ने गुरुवार को विधान सभा में वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 5,45,370.69 करोड़ रुपये का अंतरिम बजट भी पेश किया। अगले वित्तीय वर्ष के शुरुआती चार महीनों (अप्रैल से जुलाई 2022) में सरकार के जरूरी खर्चों से निपटने के लिए 1,95,797.54 करोड़ रुपये का लेखानुदान भी प्रस्तुत किया।


👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇