फर्जी शिक्षकों से नहीं हो सकी वसूली


देवरिया: परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की गई है। एसटीएफ व विभागीय जांच में दो साल के अंदर जिले में 53 शिक्षकों की बर्खास्तगी हो चुकी है, लेकिन उनसे वेतन के मद में लिए गए रुपये की वसूली नहीं हो सकी है। वसूली की कार्रवाई कछुए से भी धीमी है। हालांकि अधिकारी जल्द ही वसूली की कार्यवाही पूरी कर लेने की बात कह रहे हैं।

जिले में पहले परिषदीय विद्यालयों में बड़े पैमाने पर तैनात फर्जी शिक्षकों के विरुद्ध एसटीएफ ने कार्रवाई। इसके बाद 53 शिक्षकों को बर्खास्त करते हुए 36 के खिलाफ मुकदमे की भी कार्रवाई की गई है। मुकदमा दर्ज होने व बर्खास्तगी के बाद बेसिक शिक्षा विभाग वेतन के मद में लिए गए रुपये की वसूली अब तक नहीं कर सकी है।


अनुदानित विद्यालयों के शिक्षकों से भी होगी वसूली : जिले में पांच अनुदानित विद्यालयों पर भी कार्रवाई हुई है।


वसूली के लिए बर्खास्त शिक्षकों को नोटिस दिया गया है। साथ ही वित्त एवं लेखाधिकारी से वसूली कराने को कहा गया है। जल्द ही वसूली की कार्रवाई पूरी की जाएगी संतोष कुमार राव, बीएसए

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇