स्कूल में बंद रह गया बच्चा ,इन 10 शिक्षकों को निलंबित किया गया


बीएसए संदीप कुमार ने हेड मास्टर भंवर सिंह को मैंदामई, गीता देवी को गांव मोहनपुर प्रथम, राकेश कुमार को गिरधरपरु, सचिन शर्मा को शेरपुर, विजेंद्र कुमार को गांव जिरौली खुर्द, ललित प्रताप सिंह को गांव गिरौली किशनपुर, किशन कुमार को गांव खेड़यिा कला, कुमारी मधु भाटी को गांव नागल रती, उपवन गुप्ता को गांव गूजरपुर, साधना सिंह को गांव धुबई प्राथमिक विद्यालयों में सम्बद्ध किया है।


इस मामले में जांच के बाद हेड मास्टर सहित दस शिक्षकों को निलंबित कर एक अुनदेशक व तीन शिक्षामित्रों का मानदेय रोकने के निर्देश दिए हैं। साथ ही छुट्टी के बाद कक्षा में बच्चों को देखने को कहा गया है। -संदीप कुमार, बीएसए, हाथरस

हाथरस, संवाददाता। छुट्टी होने पर कक्षा में सोते पहली क्लास के बच्चे को वहीं छोड़ने और स्कूल पर ताला लगाकर घर जाने पर शुक्रवार को बीएसए ने हैडमास्टर समेत दस शिक्षकों को निलंबित कर दिया। इसके अलावा एक अनुदेशक व तीन शिक्षामित्रों का जुलाई माह का वेतन रोका गया है।

सासनी ब्लॉक के संविलियन विद्यालय नगला सिंह में बुधवार को दुर्गेश कुमार के छह वर्षीय बच्चे प्रेमप्रकाश को छुट्टी हो जाने के बाद शिक्षक व शिक्षिकाएं क्लास रूम में बंद करके चले गए। बताया गया कि पहली क्लास का बच्चा क्लास रूम में सो गया था। तीन घंटे बाद जब बालक की आंख खुली तो उसने रोना शुरू कर दिया। इस पर आस पड़ोस के लोग अपने घरों से निकलकर स्कूल पहुंचे। ग्रामीणों ने मामले की जानकारी अफसरों को दी। बच्चे के घंटों बाद भी घर न पहुंचने पर परिजन भी इधर-उधर तलाशने के बाद स्कूल पहुंचे तो अपने जिगर के टुकड़े को देखकर उनकी जान में जान आई। शुक्रवार को मामला मीडिया की सुर्खियों में आया तो बीएसए ने मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी सासनी अखिलेश प्रताप सिंह को दी।

प्रांरभिक रिपोर्ट में स्टाफ की गलती नजर आने पर शुक्रवार को बीएसए संदीप कुमार ने हेड मास्टर समेत दस शिक्षकों को निलंबित कर दिया। साथ ही एक अनुदेशक और तीन शिक्षा मित्रों का जुलाई माह का वेतन रोकने के निर्देश दिए। एक साथ दस शिक्षकों का निलंबन हो जाने से विभाग में खलबली मच गई।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇