डीजी ने परिषदीय विद्यालयों में कराए जाने वाले कार्यों की भेजी सूची, होंगे निपुण भारत के काम

 

डीजी ने परिषदीय विद्यालयों में कराए जाने वाले कार्यों की भेजी सूची, होंगे निपुण भारत के काम 
सुल्तानपुर। परिषदीय विद्यालयों को कंपोजिट स्कूल ग्रांट की धनराशि से संवारा जाएगा। छात्र संख्या के आधार पर परिषदीय विद्यालयों को धनराशि आवंटित होगी धनराशि से क्रय की जाने वाली सामग्री व कार्यों का विवरण स्कूल शिक्षा महानिदेशक ने बीएसए को भेजा है।
जिले में 2064 परिषदीय विद्यालय संचालित हैं। इसमें 1450 प्राथमिक विद्यालय, 343 उच्च प्राथमिक विद्यालय व 271 कंपोजिट विद्यालय शामिल हैं। परिषदीय विद्यालयों को हर साल कंपोजिट स्कूल ग्रांट भेजी जाती है। छात्र संख्या के आधार पर मिलने वाली इस धनराशि से स्कूल के विकास व अनुरक्षण मद में खर्च होता है। आमतौर पर जनवरी माह में भेजी जाने वाली कंपोजिट स्कूल ग्रांट की स्वीकृति इस बार जुलाई में ही हो गई है। स्कूल शिक्षा महानिदेशक ने कंपोजिट

स्कूल ग्रांट से होने वाले कार्यों की सूची भी भेजी है। उन्होंने कहा है कि कंपोजिट स्कूल ग्रांट की धनराशि विद्यालय प्रबंध समिति के खातों में श्रेणी के अनुसार ही हस्तांतरित की जाएगी। इस धनराशि से निपुण भारत के लोगो की पेंटिंग कराई जाएगी। पेंटिंग के लिए ऐसी दीवार का चयन किया जाएगा, जो जनसामान्य के लिए प्रथम दृष्टया दृश्यमान हो|
जिला समन्वयक निर्माण आनंद शुक्ला ने बताया कि कंपोजिट स्कूल ग्रांट की धनराशि प्राप्त हुई है। जल्द ही इसके वितरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇