शिक्षिका अपहरण कांड के खुलासे को लगाई एसओजी, जानें क्या है मामला


 

नवाबगंज (गोंडा)। पुलिस की सुस्ती व लापरवाही के चलते क्षेत्र से अगवा की गई शिक्षिका व एक किशोरी का पता नहीं चल पा रहा है। परिजन अपनी बेटियों के सकुशल बरामदगी के लिए पुलिस का चक्कर लगा रहे हैं। पुलिस की लापरवाह कार्यशैली से लोगों में नाराजगी बढ़ती जा रही है। मामले के खुलासे के लिए एसओजी लगाई गई है।



बीते 16 जुलाई की सुबह घर से स्कूल जाते समय कटी तिराहे से कस्बे के जिम संचालक ने शिक्षिका को ई-रिक्शा से उतार कर सफारी गाड़ी में बैठाकर फरार हो गया था। इस मामले में पुलिस की हीलाहवाली के बाद देर रात्रि मुकदमा दर्ज किया गया। दस दिन बीतने के बाद पुलिस न तो शिक्षिका का कोई पता लगा सकी और न ही अपहरणकर्ता जिम संचालक का कोई सुराग लगा। पुलिस अधीक्षक ने शिक्षिका अपहरण कांड के खुलासे के लिए एसओजी को लगाई है।



दूसरा मामला 13 अप्रैल का है। घर के बाहर रात में सो रही एक 13 वर्षीय किशोरी संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गई थी। परिजनों के काफी दौड़भाग के बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर 15 अप्रैल को गांव के युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। तीन माह बीतने के बावजूद पुलिस बालिका को बरामद नहीं कर पाई। आरोपी भी पकड़ से दूर है। थानाध्यक्ष तेज प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस टीम लगी हुई है। जल्द ही आरोपी गिरिफ्तार होगी।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇