कांवड यात्रा पर निकले शिक्षक की जान गई


प्रयागराज, प्रयागराज जनपद में सराय चाचक गांव के निकट साइकिल सवार बालक को बचाने की कोशिश में शुक्रवार रात बाइक सवार कांवड़िया की मौत हो गई। हादसा उस समय हुआ जब वह वाराणसी जल चढ़ाने जा रहे थे। सरायइनायत थाने की पुलिस ने उनके परिवार को सूचना दी तो वह स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल पहुंचे। इस अनहोनी से कांवड़िया के परिवार दुखी है तो शिव भक्तों में भी गम का माहौल है।



काशी विश्वनाथ के लिए रवाना हुए थे इंद्रमणि

हंडिया के केवाई बुजुर्ग गांव के रहने वाले 43 वर्षीय इंद्रमणि पांडेय प्राथमिक विद्यालय बैजपुर धनूपुर में सहायक अध्यापक थे। शुक्रवार शाम वह काशी विश्वनाथ मंदिर में जल चढ़ाने के लिए बाइक पर रवाना हुए। देर शाम संगम क्षेत्र में पहुंचकर जल भरा और फिर वाराणसी को निकले। अभी वह सरायइनायत के सराय चाचक गांव के निकट पहुंचे थे तभी अचानक सामने साइकिल सवार बालक आ गया। उसे बचाने की कोशिश में इंद्रमणि का नियंत्रण बाइक से हट गया और वह सड़क पर गिर गए। हेलमेट उनके सिर से निकल गया, जिस कारण उनके सिर में गंभीर चोट आई।

अस्पताल ले जाने पर थम गई सांस

घटनास्थल पर कुछ देर बाद मौके पर पहुंची पुलिस इंद्रमणि काे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल ले आई, जहां कुछ देर बाद उनकी मौत हो गई। उनके जेब से मिले कागजात के माध्यम से उनके स्वजन को सूचना दी गई। घरवालों के साथ ही कई शिक्षक भी अस्पताल पहुंचे। स्वजन को सांत्वना देकर किसी तरह शांत कराया गया लेकिन वे बिलखते रहे। खबर पाकर तमाम और लोग भी पहुंच गए। सभी बेहद गमगीन थे।


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇