तिरंगा अभियान के लिए हर शिक्षकों से ₹600 वसूली! विरोध के बाद आर्डर हुआ निरस्त


वाराणसी : शासन की ओर से अगस्त माह में हर घर तिरंगा अभियान चलाए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए उसने विभाग द्वारा अलग से बजट भी जारी किया है। लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षकों से 550 से ₹600 की वसूली कर रही है। शिक्षा विभाग पर यह गंभीर आरोप रविवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में शिक्षकों ने लगाए। शिक्षकों का कहना था कि वह तो स्वयं ही तिरंगा अभियान में सहयोग करने की इच्छुक थे लेकिन विभाग की ओर से की जा रही वसूली बिल्कुल अवैध है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के इस कारनामे का न तो जिला प्रशासन और ना ही जनप्रतिनिधियों में कोई संज्ञान लिया ‌‌कहा है कि अधिकारियों ने मनमानी की हद कर दी है। कई सरकारी कार्यक्रमों के लिए शिक्षकों से वसूली की जा रही है कभी कार्यक्रम के नाम पर तो कभी स्कूल के मरम्मत के नाम पर शिक्षकों से पैसा वसूला जाता है।


विभाग इसके लिए लेटर इसलिए जारी नहीं करता था कि वह फंसे नहीं। ऐसा न करने पर शिक्षकों का उत्पीड़न किया जाता है जिसके भाई से शिक्षक पैसा देते हैं और शिकायत करने से भी हिचकते हैं.

शिक्षक संगठन के विरोध के बाद फिलहाल आर्डर को वापस ले लिया गया है. लेकिन भविष्य में ऐसे आर्डर अत्यंत खेद जनक है. 

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇