UMANG mobile App : उमंग ऐप के जरिये अब मिल सकेंगे आय, जाति और निवास प्रमाणपत्र, 15 रुपये में मिलेंगी सभी सेवाएं

राजस्व विभाग की ओर से अभी तक ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल और ई-साथी के माध्यम से जन सेवा केंद्रों के जरिये उपलब्ध करायी जा रहीं आय, जाति एवं निवास प्रमाणपत्र उपलब्ध कराने की सेवाएं अब उमंग मोबाइल ऐप (Umang App ) के जरिये भी सुलभ होंगी। ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल पर उपलब्ध इन सेवाओं को वेब सर्विस के माध्यम से उमंग मोबाइल ऐप पर इंटीग्रेट कर दिया गया है, जिसकी टेस्टिंग भी सफलतापूर्वक कर ली गई है।




प्रमुख सचिव राजस्व सुधीर गर्ग की ओर से समस्त अपर मुख्य सचिव व प्रमुख सचिव सचिव, मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को इस बारे में सर्कुलर जारी कर जानकारी दे दी गई है। उमंग ऐप पर आय, जाति एवं निवास प्रमाणपत्र जैसी सेवाओं के आवेदन के लिए आम जनमानस से 15 रुपये यूजर चार्ज के रूप में लिया जाएगा। जिसका अंश विभाजन आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग द्वारा जारी शासनादेश के अनुरूप ही किया जाएगा।



बता दें कि नेशनल ई-गवर्नेन्स डिवीजन, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा विकसित उमंग मोबाइल ऐप का उद्घाटन पीएम नरेन्द्र मोदी ने 23 नवंबर, 2017 को किया था। उमंग ऐप का मुख्य उद्देश्य जनता को सरकार की ओर से दी जाने वाली सेवाएं एक ही प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराना है, जिससे आमजन को अलग-अलग विभागों के ऐप का उपयोग न करके, एक ही ऐप में सभी सेवाएं उपलब्ध हो सकें। इस मोबाइल ऐप के जरिये नागरिक केंद्र और राज्य सरकारों की विभिन्न सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकता है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇