12 वर्षों से कार्यरत शिक्षिका एसटीएफ की जांच में फर्जी निकली, बर्खास्तगी तय,अब 86 फर्जी शिक्षक हुए बर्खास्त

गोरखपुर जिले district में कूटरचित दस्तावेज Documents के सहारे परिषदीय स्कूल School में 12 वर्षों years से कार्यरत शिक्षिका एसटीएफ STF की जांच में फर्जी Fake निकली है। एसटीएफ ने जांच रिपोर्ट Report बीएसए BSA कार्यालय को सौंपकर कार्रवाई का निर्देश दिया है।जिसके बाद से विभाग की ओर से शिक्षिका की बर्खास्तगी की कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है।

 




भटहट ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय prathmik vidyalaya रामपुर बुजुर्ग में कार्यरत सहायक अध्यापक ममता कुमारी के खिलाफ एसटीएफ STF को कूटरचित दस्तावेजों documents के सहारे नौकरी करने की शिकायत मिली थी। जांच के दौरान शिक्षिका की ओर से इस्तेमाल किए गए शैक्षणिक दस्तावेज फर्जी मिले हैं।

अब तक 86 फर्जी शिक्षक हुए हैं बर्खास्त
बेसिक शिक्षा विभाग basic shiksha vibhag की ओर से अब तक कूटरचित दस्तावेजों documents के सहारे जिले के परिषदीय विद्यालयों parishadiya vidyalaya में नौकरी हासिल करने वाले 86 शिक्षकों teachers को बर्खास्त किया गया है, जबकि 84 शिक्षकों teachers पर जिले के अलग-अलग थानों में संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों BIO ने मुकदमा दर्ज कराया है। इन शिक्षकों teachers ने दशकों तक कूटरचित दस्तावेज के पर नौकरी job's कर 39 करोड़ 93 लाख, 45433 रूपये वेतन के रूप में लिए हैं।

बीएसए BSA आरके सिंह ने कहा कि कूटरचित दस्तावेज के सहारे कार्यरत शिक्षिका की जांच रिपोर्ट एसटीएफ STF की ओर से विभाग vibhag को मिली है। शिक्षिका को बर्खास्त किया जाएगा। इसके लिए कार्रवाई चल रही है।

UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇