परिषदीय विद्यालय के पुस्तक में राष्ट्रगान की पंक्ति से गायब हुआ उत्कल बंग, प्रकाशक को जारी होगा नोटिस


परिषदीय विद्यालय में शासन से आई पाठ्य पुस्तक बच्चों के पास पहुंचते ही विवाद के घेरे में आ गई। कक्षा पांचवीं के विद्यार्थियों के लिए हिंदी विषय में संचालित ‘वाटिका’ पुस्तक के अंतिम पृष्ठ पर लिखा राष्ट्रगान अधूरा है। बीएसए प्रकाश सिंह ने उत्कल व बंग राज्य के गायब होने का कारण प्रिटिंग त्रुटि बताया है। परिषदीय विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को मुफ्त किताबें मुहैया कराई जाती है।

इस बार कक्षा पांच में बच्चों को ‘वाटिका’नामक हिंदी की पुस्तक वितरित की गई है। इस किताब के आखिरी पेज पर लिखा राष्ट्रगान गलत है। दरअसल राष्ट्रगान की तीसरी लाइन पंजाब-सिंध-गुजरात-मराठा के बाद चौथी लाइन में सिर्फ द्राविड़….के बाद के शब्द उत्कल बंग गायब है। इसके बाद सीधे पांचवीं लाइन विंध्य- हिमाचल-यमुना-गंगा…से शुरू है। यह गलती एक दो किताबों में नहीं, बल्कि पांचवीं की सभी किताबों में है।

विद्यालयों के शिक्षकों का कहना है कि गलती किताब छापने में हुई है। हालांकि, बेसिक शिक्षा अधिकारियों को किताबें वितरित होने से पहले इस पर ध्यान देना चाहिए था। प्राइमरी स्कूल हिसामपुर परसखी के बच्चों ने बताया, उन्हें अब-तक पता ही नहीं था कि उनकी किताब से दो प्रान्त के नाम गायब हैं। अभी देखा तो पता चला। हम नियमित राष्ट्रगान गाते हैं तो याद है। इसलिए उत्कल बंग लगा कर बोलते हैं। स्कूल के अध्यापक का कहना है कि राष्ट्रगान से उत्कल और बंगाल प्रान्त का नाम हटाने का मतलब राष्ट्रगान की मूल भावना को ही खत्म कर देना है।प्राइमरी स्कूल औधन के बच्चे और टीचर अब तक इस बात से अनजान थे कि उनकी पाठ्य-पुस्तक से राष्ट्रगान की पंक्तियों ने उत्कल और बंग प्रान्त गायब है। शिक्षकों के मुताबिक, यह तो वही बात हुई कि जिस प्रदेश के रचयिता ने राष्ट्रगान रचा। उसी को गायब कर राष्ट्रगान की आत्मा निकाल ली है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश सिंह का कहना है कि प्रिंटिंग त्रुटि के चलते किताब में उत्कल व बंग का नाम गायब हुआ है। बच्चों से वापस लेकर दूसरी दूसरी किताबें मुहैया कराई जाएंगी।वितरण पर लगाई रोक, बच्चों से वापस ली जा रही किताबें: बीएसएजिले में तकरीबन 25 हजार की संख्या में कक्षा पांच के बच्चों के लिए हिंदी की पुस्तक वाटिका आई है। इनमें से काफी किताबें स्कूलों में बच्चों को वितरित की जा चुकी हैं। बीएसए प्रकाश सिंह ने बताया कि पुस्तक में राष्ट्रगान गलत प्रकाशित होने की जानकारी मिलने पर बेसिक शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अफसरों को सूचना देने के साथ ही तत्काल प्रभाव से पुस्तक वितरण पर रोक लगा दी गई है। अब भंडार गृह से विद्यालयों को किताबें नहीं भेजी जाएंगी। साथ ही स्कूलों में वितरित किताबें बच्चों से वापस लेने के निर्देश दिए गए हैं।

बंगाल हार का दर्द नहीं भुला पा रही भाजपा: कांग्रेस जिलाध्यक्ष

कांग्रेस इसे भाजपा की सोची समझी राजनीति का हिस्सा बता रही है। पार्टी जिलाध्यक्ष अरुण विद्यार्थी का कहना है कि भाजपा बंगाल हार का दर्द नहीं भुला पा रही है। इस कारण उसने राष्ट्रगान की पंक्तियों से उत्कल और बंग राज्य का नाम जानबूझ कर नहीं छपवाया। वह इस पर आंदोलन चलाएंगे।

प्रकाशक को जारी होगी नोटिसकक्षा पांच के बच्चों को वितरित वाटिका पुस्तक प्रमोद प्रिंटर्स मथुरा द्वारा मुद्रित है। इसकी सूचना विभाग को दे दी गई है। विभाग की ओर से प्रकाशक को नोटिस जारी की जाएगी। -प्रकाश सिंह-बीएसए


UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु NOTES 👇