करोड़ों के पेंशन गबन में दो कोषाधिकारी बर्खास्त, जानिए किस जिले है यह मामला

लखनऊ : हरदोई कोषागार में तैनात रहे दो वरिष्ठ कोषाधिकारियों को 5.45 करोड़ रुपये के गबन के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बर्खास्त करने का आदेश दिया है। बर्खास्त किये गए कोषाधिकारी देवीप्रसाद व दीपांकर शुक्ला हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। इसी मामले में यह दोनों फिलहाल निलंबित थे।


मामला वर्ष 2009-16 का है। इन दोनों कोषाधिकारियों पर आरोप है कि ट्रेजरी के अन्य स्टाफ के साथ मिलकर इन्होंने 56 ऐसे लोगों के फर्जी पेंशन पेमेंट आर्डर के माध्यम से 5.45 करोड़ रुपये की धनराशि का गबन किया, जिनका अस्तित्व ही नहीं था। इस मामले में ट्रेजरी के बाबू राकेश कुमार सिंह को पहले ही बर्खास्त किया जा चुका है, जबकि यहां तैनात रहे एक अन्य कोषाधिकारी मुकुंदी लाल गुप्ता के खिलाफ कार्यवाही प्रचलित है। गुप्ता सेवानिवृत्त हो चुके हैं। इस मामले की जांच प्रधान मुख्य वन संरक्षक कार्यालय में तैनात रहे वित्त नियंत्रक आलोक अग्रवाल ने की थी। उन्होंने शासन को अपनी जांच रिपोर्ट जुलाई 2020 में सौंप दी थी। जांच में बर्खास्त किये गए दोनों अफसरों को दोषी पाया गया था।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇