बीएसए शिक्षक के विरुद्ध दर्ज कराई गई एफआईआर लें वापस


मैनपुरी। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष प्रणवीर सिंह यादव के नेतृत्व में बृहस्पतिवार को नाहिली प्रकरण को लेकर डीएम और एसपी से मुलाकात की। शिक्षक नेताओं ने डीएम और एसपी से बीएसए द्वारा शिक्षक राजेश कुमार के विरुद्ध दर्ज कराई गई एफआईआर वापस लिए जाने मांग की।



जिलाधिकारी और एसपी से मिले प्राथमिक शिक्षक संघ के नेताओं ने कहा कि कंपोजिट विद्यालय नाहिली प्रकरण में जिलाधिकारी और एसपी स्वयं घिरोर पहुंचे थे। ग्रामीणों और पुलिस से वार्ता के बाद विद्यालय में तैनात प्रधानाध्यापिका और दो अन्य शिक्षकों को हटाया गया था। जब उच्चाधिकारियों ने मामले का निपटारा कर दिया तो फिर बीएसए को मामले में एफआईआर कराने की क्या जरूरत थी। जिला अध्यक्ष प्रणवीर यादव ने जिलाधिकारी और एसपी से मामले के निस्तारण की मांग की। वरिष्ठ उपाध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि एक जाति विशेष के लोग बीएसए को भ्रमित कर रहे हैं। उन लोगों द्वारा ही बीएसए को भड़काकर मुकदमा दर्ज कराया गया है।

उन्होंने कहा कि बीएसए एफआईआर वापस लें। उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व में निरीक्षण के दौरान उनके द्वारा कई शिक्षक-शिक्षिकाओं के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया है। जिला उपाध्यक्ष विकास ने कहा कि यदि एफआईआर वापस नहीं हुआ तो जिले का शिक्षक और क्षेत्रीय ग्रामीण आंदोलन करने को मजबूर होंगे। अधिकारियों से मिलने वालों में केसरीनंदन, प्रवेश यादव, मुकेश यादव, धर्मेंद्र सिंह चौहान, अतुल यादव, श्रीचंद्र यादव, अमित सिंह चौहान, धीरेंद्र सिंह, राजकमल आदि शिक्षक मौजूद रहे।
डीएम और एसपी ने शिक्षक नेताओं से कहा कि घटना शर्मसार करने वाली है। शिक्षा के क्षेत्र में इस प्रकार की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। उन्होंने भरोसा दिया कि शीघ्र ही मामले का निस्तारण कराया जाएगा।
घिरोर। पिछले कई दिनों से विवाद में उलझे कंपोजिट विद्यालय नाहिली में बृहस्पतिवार को खंड शिक्षाधिकारी मनींद्र कुमार पहुंचे। खंड शिक्षाधिकारी को यहां विधिवत कक्षाएं संचालित होते मिलीं। खंड शिक्षाधिकारी ने विद्यालय के छात्र-छात्राओं से कहा कि वे समय से आकर शांतिपूर्ण माहौल में शिक्षण कार्य करें। उन्होंने शिक्षकों से भी शिक्षक पद की गरिमा के साथ शिक्षण कार्य करने की अपील की।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇