पुरानी पेंशन संवैधानिक अधिकार


प्रयागराज। Primary Ka Master , basic shiksha news,.

सिविल सेंट्रल वेलफेयर सोसाइटी की ओर से शुक्रवार को हिन्दुस्तानी एकेडमी में पेंशनर्स दिवस मनाया गया। इस दौरान विचार गोष्ठी आयोजित की गई। पुरानी पेंशन बहाल करने पर चर्चा की गई।


सीडीए पेंशन के प्रधान निदेशक राजीव रंजन ने कहा कि पुरानी पेंशन कर्मचारियों का संवैधानिक अधिकार है। 40 साल सरकार की सेवा करने के बाद यह सुविधा मिलती है। सरकार को अविलंब इसे बहाल करना चाहिए। केंद्र स्वास्थ्य सेवा योजना के अतिरिक्त निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव ने कहा कि महंगाई पर लगाम नहीं लगने की वजह से कम्प्यूटेशन को मिलने वाले लाभ को अब घटाकर दस साल कर देना चाहिए। संगठन के राष्ट्रीय संरक्षक कृपाशंकर श्रीवास्तव ने कहा कि पेंशनर्स को आयकर दायरे से मुक्त कराया जाए। 80 साल पूरने वाले डीएन सिंह, एसबी तिवारी, शिवमूर्ति सिंह, डीएस उपाध्याय, दीपनारायण को सम्मानित किया गया। बांग्लादेश आंदोलन में भागीदारी निभाने वाले जीपी त्रिपाठी को भी सम्मानित किया गया। प्रांतीय अध्यक्ष सुधीश चन्द्रा ने 13 अप्रैल को संगठन के स्थापना दिवस को शानदार ढंग से मनाने का आह्वान किया। पेंशनरों से संबंधित समस्याओं का ज्ञापन सीजीएचएस के एडी को दिया गया।

यूनाइटेड फोरम आफ पेंशनर्स एसोसिएशन के तत्वावधान में पेंशनर दिवस धूमधाम से कोरल क्लब सिविल लाइंस में मनाया गया। मुख्य अतिथि सांसद केसरी देवी पटेल, मुख्य विशिष्ट अतिथि न्यायमूर्ति कैप्टन डीपीएन सिंह, न्यायमूर्ति भगवान सिंह व अपर आयुक्त आबकारी कृष्ण चंद्र, यश कपिल सीसीएम प्लानिंग उत्तर मध्य रेलवे, डॉ एसके हंडू, डॉ रूपा कपिल,पूर्व आयुक्त आरएस वर्मा उपस्थित रहे। अध्यक्षता सुशील कुमार श्रीवास्तव व संचालन शिवराम उपाध्याय, महामंत्री श्याम सुंदर सिंह पटेल ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ पेंशनर दिवस के जनक डीएस नागरा के चित्र पर माल्यार्पण से हुआ। 80 वर्ष से अधिक आयु के 13 पेंशनरों को सम्मानित किया गया। इसमें शिवराम उपाध्याय ,अमरनाथ विश्वकर्मा, लालमणि सिंह, पुरुषोत्तम ,राम बहादुर प्रसाद ,अमरनाथ यादव ,रामानंद श्रीवास्तव आदि शामिल रहे। एजी यूपी पेंशनर्स एशोसियेशन का वार्षिक सम्मेलन आयोजित हुआ। शुरुआत पीएन त्रिपाठी के चित्र पर माल्यार्पण करके हुई।

अफसरों को पेंशनरों ने बताईं समस्याएं

प्रयागराज। पेंशनर्स दिवस पर शुक्रवार को संगम सभागार में कार्यक्रम हुआ। मुख्य कोषाधिकारी विवेक कुमार सिंह एवं संयुक्त निदेशक पेंशन निशान्त उपाध्याय ने कई विभागों के पेंशनर्स की समस्याओं को जाना। पेंशनर्स एसोसिएशन के सदस्यों ने चिकित्सा प्रतिपूर्ति दावों का निस्तारण, नियमावली में दी समय सारणी का अनुपालन नहीं करने पर इसे भ्रष्टाचार की श्रेणी में मानते हुए प्रस्ताव पारित किया गया। कहा गया कि देरी करने वाले कार्यालयों के पदाधिकारियों द्वारा घेराव किया जाएगा।

पेंशनर्स को मेडिकल सुविधा दी जाए

उत्तर मध्य रेलवे पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने पेंशनर्स डे मनाया। इसकी अध्यक्षता कृष्ण कुमार ने की। इस दौरान पेंशनर्स आरके मेहता, एचके गुप्ता, संखवार, बीके मिश्रा, कृष्ण कुमार ,नगेन्द्र कुमार व दीपक वर्मा व दुर्गा प्रसाद ( वर्चुअल माध्यम से) ने विभिन्न विषय पर अपने विचार रखे। नगेन्द्र कुमार ने रेलवे बोर्ड से अनुरोध किया कि जिन रेलवे पेंशनर्स ने मार्च 2009 से दिसंबर 2009 के बीच की अवधि मे रेलवे मेडिकल सुविधा नहीं ली थी, उन्हें सुविधा देने का प्रबंध किया जाए।

पेंशनर दिवस के अवसर पर संगम सभागार में पेंशनर्स की समस्याओं के समाधान के लिए बैठक हुई। पेंशनर्स संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि सालभर में एक बार होने वाली बैठक में जो निर्णय लिए जाते हैं, उनके अनुपालन पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ऐसे विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। आक्रोश जताया गया कि हरीश कुमार सक्सेना को मंडलायुक्त की पेंशन अदालत के आदेश के बाद भी अभी तक पेंशन नहीं दी जा रही है। उनकी पत्नी कैंसर से पीड़ित हैं। रिटायरमेंट के बाद अधिकारियों व कर्मचारियों का बकाया मानदेय ,वेतन वृद्धि, प्रोन्नत वेतनमान, एसीपी आदि का लाभ का भुगतान नहीं किया जाता है।

👇UPTET/CTET/SUPER TET, शिक्षक भर्तियों व अन्य भर्तियों हेतु नोट्स 👇